Home Business एचएसबीसी बैंक कर्मचारियों पर गहराया नौकरी का संकट

एचएसबीसी बैंक कर्मचारियों पर गहराया नौकरी का संकट

11
0

दा एंगल।
लंदन।
भारत ही नहीं विश्व में इस समय वैश्विक मंदी का दौर चल रहा है। कोई भी सैक्टर हो सभी कंपनियां, बैंकिंग सेक्टर अपने काॅस्ट कटिंग के नाम पर कर्मचारियों की कटौती कर रहे हैं। एचएसबीसी बैंक एक प्राइवेट बैंक है। इसका हैड ऑफिस लंदन में है। एचएसबीसी मल्टीनेशनल इन्वेस्टमेंट बैंक और फाइनेंशियल सर्विसेज होल्डिंग कंपनी है। यह 2018 तक दुनिया में 7वां सबसे बड़ा बैंक हैं और यूरोप में सबसे बड़ा 2.558 बिलियन अमेरिकी डॉलर की कुल संपत्ति थी।
एचएसबीसी बैंक में काम कर रहे कर्मचारियों की नौकरी पर संकट मंडरा रहा है। एचएसबीसी बैंक 10,000 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि एचएसबीसी होल्डिंग्स पीएलसी कॉस्ट-कटिंग पर काम कर रहा है यानी एचएसबीसी बैंकिंग लागत को कम करना चाहता है। इसलिए जल्द 10 हजार लोगों की छंटनी हो सकती है।

एचएसबीसी बैंक में वैश्विक स्तर पर हैं 2.38 लाख कर्मचारी

गौरतलब है कि इस महीने के आखिर में तीसरी तिमाही के परिणामों की रिपोर्ट की घोषणा होगी और इसके साथ ही नौकरी में कटौती की शुरुआत की घोषणा भी हो सकती है। पहले बैंक 4,700 नौकरियों में कटौती करेगा। अंतरिम सीईओ नोइल क्विन की योजना पूरे बैंकिंग ग्रुप की लागत को कम करना है। वैश्विक स्तर पर एचएसबीसी के कर्मचारियों की संख्या 2.38 लाख है।

इन लोगों की जा सकती है नौकरी

अधिक वेतन वाले कर्मचारियों को नौकरी से निकाला जा सकता है। इससे पहले एचएसबीसी ने उसके वैश्विक परिचालन में भारत स्थित कार्यालयों से मदद करने वाले 150 कर्मचारियों को नौकरी से निकाला था। बैंक ने कहा था कि, उसने वैश्विक स्तर पर अपने परिचालन को नए सिरे से व्यवस्थित करने की प्रक्रिया के तहत यह कदम उठाया है। मुख्य रूप से पुणे और हैदराबाद में बैंक के मध्य प्रबंधन स्तर के कर्मचारियों को हटाया गया है।
यह दावा फाइनेंशियल टाइम्स की एक रिपोर्ट में किया गया है। लेकिन एसएसबीसी ने इस मामले में कोई बयान देने से इनकार किया है। रिपोर्ट में बताया गया है कि एचएसबीसी के एक प्रवक्ता ने नौकरियों की कटौती पर टिप्पणी करने से इनकार किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here