Home National जितिन प्रसाद की नई पारी की शुरुआत, कांग्रेस का हाथ छोड़ भाजपा...

जितिन प्रसाद की नई पारी की शुरुआत, कांग्रेस का हाथ छोड़ भाजपा में हुए शामिल

20
0

The Angle
नई दिल्ली।

उत्तर प्रदेश में जल्द ही विधानसभा के चुनाव होने हैं। इसको लेकर भाजपा ने अपनी तैयारियां शुरू कर दी है। वहीं उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। पार्टी के कद्दावर नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद हाथ का साथ छोड़कर भाजपा में शामिल हो गए हैं। यह कांग्रेस के लिए उत्तर प्रदेश में एक बहुत बड़ा झटका है। जितिन प्रसाद की गिनती बड़े ब्राह्मण नेताओं में होती है। गौरतलब है कि 2019 में भी जितिन प्रसाद की भाजपा में शामिल होने की अटकलें थी, लेकिन ऐनवक्त पर उन्होंने अपना विचार बदल दिया था।

मिशन 2022 में जुटी भाजपा

भारतीय जनता पार्टी यूपी मिशन 2022 में जुट गई है। प्रदेष में जल्द ही विधानसभा चुनाव होने हैं। कांग्रेस के उत्तर प्रदेष के बड़े नेता और राहुल गांधी के करीबी जितिन प्रसाद भाजपा में शामिल हो गए हैं। भाजपा मुख्यालय में रेल मंत्री पीयूष गोयल ने उनको भाजपा की सदस्यता दिलाई। यूपी में कांग्रेस की स्थिति पहले ही सही नहीं है। वहां पर केवल महासचिव प्रियंका गांधी ही पार्टी को मजबूत करने में जुटी है, लेकिन वस्तुस्थिति में कांग्रेस की वहां पर स्थिति बेहद अच्छी नहीं है। पिछले कुछ दिनों से जितिन प्रसाद आलाकमान से नाराज चल रहे थे। तभी से अटकले लगाई जा रही थी वो पार्टी को छोड़ सकते हैं। जितिन प्रसाद केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल के घर पहुंचे। प्रसाद पीयूष गोयल के साथ केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के घर पहुंचे और वहां पर उनसे बातचीत की।

उत्तर प्रदेश में जल्द ही विधानसभा चुनाव

उत्तर प्रदेश में जल्द ही विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में भाजपा मिषन 2022 की शुरुआत कर दी है। जितिन प्रसाद यूपी के कांग्रेस के बड़े नेता माने जाते हैं। वे पिछले काफी दिन से आलाकमान से नाराज चल रहे थे। वहीं राजनीतिक गलियारे में चर्चा है कि यूपी में प्रियंका गांधी के आने के बाद से जितिन प्रसाद को साइड लाइन कर दिया गया। पार्टी के कार्यक्रमों में भी उनको कम तवज्जो मिलती थी। हालांकि जितिन ने कभी खुलकर इसको जाहिर नहीं किया।

वहीं उत्तर प्रदेश में पिछले दिनों ब्राह्मण लोग भाजपा से नाराज चल रहे हैं। ऐसे में भाजपा चुनाव से पहले ब्राह्मणों को अपनी ओर करना चाहती है। पार्टी की सदस्यता लेने के बाद उन्होंने कहा कि बाकी दल क्षेत्रीय दल रहे गए हैं। भाजपा एक राजनीतिक दल है। उन्होंने कहा कि आज से मेरा एक नया अध्याय शुरू हो रहा है। मैंने सोच समझकर यह फैसला लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here