Home Business टोल प्लाजा पर वाहन कतार में

टोल प्लाजा पर वाहन कतार में

46
0

द एंगल

नई दिल्ली

एनएचएआई ने कैश से टोल देने की जगह फास्टैग को अनिवार्य किया था। इसको लेकर लोग जागरूक हो इसलिए इसकी तैयारी नवंबर से ही शुरू कर दी थी। इसके लिए टोल लेन बनाई गई और रिचार्ज काउंटर बनाए गए। यहाँ तक की रिचार्ज के लिए काउंटर भी लगाए गए। इतनी तैयारियों की बावजूद भी फास्टैग से टोल देने में लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

टोल प्लाजा पर गाड़ियों को लग रहा है समय

एनएचएआई 24 दिन बाद भी 100 फीसदी फास्टैग लागू कराने में विफल रहा है। ज्यादातर लोगों ने अपनी गाड़ियों पर लगवा लिए। लोगों को उम्मीद थी की अब उन्हें लाइनों में नहीं खड़ा रहना पड़ेगा और समय भी बचेगा। लेकिन ऐसा बिलकुल नहीं हुआ। इसके लगाने के बाद भी बारकोड स्कैन होने में समय लग रहा है। कर्मचारियों को रीड करने में दो से पांच मिनट तक का समय लग जाता है। इस दरम्यान गाड़ियां खड़ी रहती हैं।

सही नहीं है व्यवस्था

एनएचएआई आगरा खंड के परियोजना निदेशक अरुण कुमार यादव ने बताया कि रीडिंग में टोल प्लाजा पर काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इसके लिए अलग काउंटर है और अलग लाइन है, फिर भी कई बार बिना टैग वाली गाड़ियां भी इन काउंटर्स की लाइन में आ जाती है। जिससे व्यवस्था ख़राब हो जाती है। इन समस्याओं को देख कर लगता है की टोल प्लाजा पर मैनेजमेंट अभी सही नहीं है। इसको लेकर टोल प्लाजा पर कर्मचारी उतने ट्रेंड नहीं है जितना ट्रेंड होनी की जरुरत है।

मैनेजमेंट सही नहीं होने से गाड़ियों को भी बिना फास्टैग गाड़ियों के जितना ही समय लग रहा है। इसको अनिवार्य करने के बाद भी सिर्फ 47 फीसदी लोग ही इसका उपयोग कर पा रहे है। टोल प्लाजा पर टैग वाली भी कतार में लग रही है। फास्टैग आने से परिवर्तन नहीं देखने को मिल रहा है बल्कि टोल प्लाजा पर लोगों की परेशानियां जरूर बढ़ गयी है। 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here