Home Crime प्रदेश में रिश्वतखोरों पर एसीबी ने लगाई लगाम, रिटायर्ड अधिकारी को जमीन...

प्रदेश में रिश्वतखोरों पर एसीबी ने लगाई लगाम, रिटायर्ड अधिकारी को जमीन आवंटन के नाम पर घूस लेते पकड़ा

111
0

दा एंगल।
जयपुर।

प्रदेश में जब से कांग्रेस की सरकार आई है। तब से रिश्वतखोरों के बुरे दिन शुरू हो गए हैं। राज्य सरकार प्रदेश में भ्रष्टाचार को पूरी तरह से समाप्त करना चाहती है। इसको लेकर राज्य सरकार ने भ्रष्टाचार के विरूद्ध जीरो टॉलरेंस पॉलिसी अपना रखी है।

इसी के तहत भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो लगातार इन रिश्वतखोरों पर लगाम कसती जा रही है। एसीबी ने हाल ही में तीन बड़े अफसरों के खिलाफ आय से अधिक सम्पति मामले में केस दर्ज किया है। इसके बाद एसीबी की टीमों ने जयपुर, उदयपुर और कोटा में इन तीनों अफसरों के 10 ठिकानों पर छापा मारा। इस संबंध में एसीबी की इंटेलीजेंस शाखा ने शिकायतें मिलने पर निगरानी रखीं। इसके बाद सर्च वारंट लेकर कार्रवाई की जा रही है।

एसीबी ने चल-अचल सम्पत्ति की उजागर

एसीबी ने आय से अधिक सम्पत्ति के मामले में एसीबी में दर्ज प्रकरणों पर जो तीन अधिकारियों के 10 ठिकानों पर रेड मारी थी उसमें बड़े स्तर पर चल-अचल सम्पत्ति उजागर हुई है। एसीबी ने ये रेड अजमेर विद्युत वितरण निगम के अधीक्षण अभियंता गिरीश कुमार जोशी, बूंदी में सहायक विकास अधिकारी पद पर तैनात चिरंजीलाल और रीको जयपुर में सीनियर डीजीएम सिविल पद पर तैनात सतीश कुमार गुप्ता के ठिकानों पर डाली थी। इन सभी के यहां से लगभग 53 करोड़ रुपए मूल्य से ज्यादा की सम्पत्ति के दस्तावेज बरामद हुए है।

प्रदेश में आरएएस अधिकारी रिश्वत लेते ट्रैप

वहीं आज फिर एसीबी ने एक रिटायर्ड आरएएस अधिकारी को रिष्वत लेते ट्रैप किया है। यह आरएएस अधिकारी प्रेमाराम परमार अभी हाल ही में बीकानेर में अतिरिक्त आयुक्त उपनिवेशन के पद से रिटायर हुआ है। एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने रिटायर्ड आरएएस अधिकारी को बाड़मेर में पकड़ा है। इसके बाद टीम ने इस अधिकारी के जयपुर, जोधपुर, जैसलमेर समेत कई ठिकानों पर रातभर छापे मारे और नकदी, गहने और अचल सम्पत्तियों के दस्तावेज बरामद किए हैं। जयपुर स्थित आवास पर छापे के दौरान इस अधिकारी के घर से 8 लाख रुपए बरामद हुए हैं।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक ये अधिकारी 31 अक्टूबर को कॉलोनाइजेशन डिपार्टमेंट से एडिशनल कमिश्नर पद से सेवानिवृत्त हुआ था। जमीन आवंटन के मामलों में चल रही पुरानी फाइलों को बैकडेट में क्लीयर करने के मामले में ये अधिकारी एक दलाल नजीर खान के जरिए 5 लाख की लेते हुए पकड़ा है। एसीबी सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक अधिकारी प्रेमाराम को पकड़ने के बाद उसके जोधपुर, जैसलमेर और जयपुर आवास पर भी छापे मारे गए है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here