Home International Health कृष्ण के बाद अब हनुमान से हुई पीएम मोदी की तुलना

कृष्ण के बाद अब हनुमान से हुई पीएम मोदी की तुलना

205
0
AppleMark

द एंगल।

नई दिल्ली।

कोरोना वायरस के संकट के बीच सभी देश एक-दूसरे का सहयोग कर इस महामारी को हराने में जुटे हुए हैं। इस बीच भारत की ओर से भी इस महामारी से अधिक प्रभावित देशों को हर संभव मदद दी जा रही है। अमेरिका के बाद अब ब्राजील ने भी भारत को इस मदद के लिए शुक्रिया कहा है। ब्राजीली राष्ट्रपति जेर बोलसोनारो ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक चिट्ठी लिखी है। इस चिट्ठी में ब्राजीली राष्ट्रपति ने पीएम मोदी की तुलना रामायण में हनुमान द्वारा लाई गई संजीवनी से की है।

ब्राजीली राष्ट्रपति ने भारत-ब्राजील के दोस्ताना रिश्तों का किया उल्लेख

बोलसोनारो ने कल 7 अप्रैल को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कोरोना वायरस के मसले पर चिट्ठी लिखी, जिसमें उन्होंने भारत-ब्राजील के दोस्ताना रिश्तों के बारे में बात की। ब्राजीली राष्ट्रपति ने कहा कि संकट के इस समय में जिस तरह भारत ने ब्राजील की मदद की है, वह बिल्कुल वैसा ही है जैसा रामायण में हनुमान जी ने भगवान राम के भाई लक्ष्मण की जान बचाने के लिए संजीवनी लाकर की थी। बता दें कि आज देशभर में हनुमान जयंती मनाई जा रही है।

ब्राजीली राष्ट्रपति जेर बोलसोनारो और भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो)

ब्राजीली राष्ट्रपति ने लिखा- हमें भारत से लगातार मदद की उम्मीद

दरअसल, ब्राजील की ओर से इस तारीफ का कारण हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन ही है। भारत ने मंगलवार को कहा था कि जिन देशों को इस दवाई की सख्त जरूरत है और जहां कोरोना वायरस के मामलों का असर काफी ज्यादा है, वहां कुछ निश्चित दवाइयों की आपूर्ति की जाएगी। वहीं ब्राजीली राष्ट्रपति ने अपनी चिट्ठी में कहा कि उनके देश में दो लैब हैं जो कोरोना की वैक्सीन बना रही हैं, लेकिन उनकी सप्लाई पूरी तरह से भारत पर निर्भर है, ऐसे में भारत से लगातार मदद की उम्मीद है।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी की थी पीएम मोदी की तारीफ

गौरतलब है कि इस मसले पर इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का बयान सामने आया था, जहां उन्होंने भारत के द्वारा हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन की सप्लाई को मंजूरी करने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ की थी। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी महान हैं, वह शानदार काम कर रहे हैं। बता दें कि भारत में होने वाली मौसमी बीमारियों में मलेरिया प्रमुख है। यही वजह है कि भारत दुनिया के उन देशों में शामिल है, जहां इस दवाई का सबसे ज्यादा उत्पादन किया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here