Home Sports एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक विजेता बाॅक्सर डिंको सिंह का निधन, खेल...

एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक विजेता बाॅक्सर डिंको सिंह का निधन, खेल जगत में छाई शोक की लहर

16
0

The Angle
नई दिल्ली।

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर से ना जाने कितने ही लोगों की मौत हो गई है। इस बीमारी ने आम नहीं खास लोगों को भी अपना शिकार बनाया है। कोविड के कारण इस बार लोगों की अधिक मौत हुई है। वहीं आज खेल जगत से एक दुख भरी खबर आई है। 1998 में एशियाई खेलों में भारत को बाॅक्सिंग में स्वर्ण पदक दिलाने वाले नगंगोम डिंको सिंह का निधन हो गया हैं। वे 42 वर्ष के थे। पिछले काफी वर्षों से वे बीमार चल रहे थे। उनके लीवर का इलाज चल रहा था। इस बीच उनको कोरोना हो गया। उन्होंने कोरोना को तो मात दे दी लेकिन वे जिंदगी की जंग हा गए।

काफी वर्षों से थे बीमार

भारत को बाॅक्सिंग में 1998 एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक दिलाने वाले बाॅक्सर नगंगोम डिंको सिंह जिंदगी की जंग हार गए। काफी वर्षों से बीमार चल रहे डिंको सिंह निधन हो गया है। वे मात्र 42 साल के थे। उनको लीवर में परेशानी थी जिसका इलाज चल रहा था। इस बीच वे कोरोना संक्रमित हो गए। पर उन्होंने कोरोना को तो मात दे दी, लेकिन वे जिंदगी की जंग हार गए। उनके निधन की खबर सुनते ही खेल जगत में शोक छा गया।

खेल मंत्री किरण रिजिजू सहित कई खिलाड़ियों ने उनके निधन पर शोक व्यक्त किया है। डिंको सिंह के निधन पर शोक प्रकट करते हुए खेल मंत्री किरण रिजिजू ने ट्वीट कर लिखा, मैं डिकों सिंह के निधन पर आहत हूं, वह भारत के सर्वश्रेष्ठ मुक्केबाजों में से एक थे। साल 1998 में बैंकाक एशियाई खेलों में डिंको के स्वर्ण पदक ने भारत में बॉक्सिंग को काफी लोकप्रियता दिलाई। मैं शोकाकुल परिवार के प्रति अपनी गहरी संवेदना प्रकट करता हूं।

कोरोना संक्रमित हो गए थे

कोरोना की दूसरी लहर ने कई परिवारों को लील लिया। वहीं डिंको सिंह ने साल 1998 में बैंकॉक एशियाई खेलों में अपना परचम लहराते हुए बॉक्सिंग में स्वर्ण पदक जीता था। बॉक्सिंग में उनके उत्कृष्ट प्रदर्शन को देखते हुए 1998 में अर्जुन पुरस्कार से नवाजा गया। वहीं 2013 में डिंको सिंह को पद्मश्री से सम्मामित किया गया। बीते साल डिंको सिंह की तबियत ज्यादा खराब हो गई। इसके बाद मणिपुर से उन्हें एयरलिफ्ट के जरिए इलाज के लिए दिल्ली लाया गया। उनके लीवर कैंसर का इलाज दिल्ली के आईएलबीएस में चल रहा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here