Home National पैरा शूटिंग में देश का नाम रोशन करने वाली अवनी लेखरा को...

पैरा शूटिंग में देश का नाम रोशन करने वाली अवनी लेखरा को भारी पड़ रही पीसीआई के नियम

103
0

द एंगल

जयपुर.

पैरा शूटिंग में राजस्थान और देश का नाम रोशन करने वाली अवनी लेखरा को यूएई में आयोजित होने वाली पैराशूटिंग वर्ल्ड चैम्पियनशिप के कुछ इवेंट में पार्टिसिपेट करने से रोक दिया गया है। पीसीआई ने अपने नियम के तहत कहा कि अवनी को 3 लाख 7 हजार रुपये अपनी अपनी जेब से खर्च करने होंगे तभी  R3 और  R6  इवेंट  में हिस्सा ले सकती है।

पीसीआई की ओर से अवनी लेखरा को R3, R6 में हिस्सा लेने से किया बाहर

बता दें कि 3 नवम्बर से 18 नवम्बर तक यूएई में वर्ल्ड चैम्पियनशिप आयोजित होनी है। इस वर्ल्ड चैम्पियनशिप में अवनी 10 मीटर और 50 मीटर की पैरा शूटिंग के R2,R3,R6 और R8 में हिस्सा लेती है। पीसीआई के नियमों के तहत किसी भी खिलाड़ी को हर इवेंट में हिस्सा लेने के लिए न्यूनतम प्वाइंट्स की अनिवार्यता होती है लेकिन अवनी द्वारा सिर्फ R2 और R8 में ही खेलने की अनिवार्यता को पूरा किया है, तो वहीं R3 और R6 में निर्धारित प्वाइंट्स की अनिवार्यता को पूरा नहीं कर पाई है। जिसके चलते पीसीआई की ओर से अवनी लेखरा को R3 और R6 में हिस्सा लेने से बाहर कर दिया है

अन्य दो इवेंट में हिस्सा लेने के लिए खर्च करने होंगे अवनी को 3 लाख 7 हजार रुपये

अवनी लेखरा राजस्थान की राजधानी जयपुर की रहने वाली है। पैरा शूटिंग में राजस्थान और देश का नाम रोशन करने वाली अवनी लेखरा ने टोक्यो पैरालम्पिक में एक गोल्ड सहित दो मेडल और वर्ल्ड चैम्पियनशिप में भी देश के लिए गोल्ड जीता। इसके साथ ही लगातार अपने शानदार खेल की बदौलत अवनी ने देश का सिर गर्व से ऊंचा किया है, लेकिन अवनी के सपनों के आगे  पीसीआई के नियम भारी पड़ रहे हैं। अवनी पैरा शूटिंग के चार इवेंट में से महज 2 इवेंट में ही हिस्सा ले पाएंगी अगर अवनी को अन्य दो इवेंट में हिस्सा लेना है तो पीसीआई के नियमों के तहत अवनी को 3 लाख 7 हजार रुपये अपनी जेब से खर्च करने होंगे।

अशोक चांदना अवनी को लेकर केंद्रीय मंत्री से करेंगे बात

अवनी लेखरा के मामले को लेकर खेल मंत्री अशोक चांदना ने कहा की अवनी ने देश के लिए मेडल जीतकर देश का नाम रोशन  किया है। अब बेवजह के नियम  का हवाला देकर यदि खिलाड़ी को किसी भी इवेंट में भाग लेने से रोका जा रहा है तो यह गलत बात है।  ऐसे में खुल केंद्रीय मंत्री से इस बारे में बात करूंगा ।

Previous articleAshok Gehlot: A visionary who has transformed Rajasthan into a welfare state
Next articleNIA की आतंकी कनेक्शन को लेकर 5 राज्यों में छापेमारी जारी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here