Home Agriculture मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रदेश के अन्नदाताओं को दी ये बड़ी राहत,...

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रदेश के अन्नदाताओं को दी ये बड़ी राहत, खिले किसानों के चेहरे

297
0

द एंगल।

जयपुर।

कोरोना काल सूबे के मुखिया अशोक गहलोत हर कदम पर प्रदेश के अन्नदाताओं के साथ खड़े हैं। फिर चाहे उन्हें टिड्डियों से राहत देने की बात हो, कृषि कनेक्शन के बिजली बिल में राहत देने की बात हो, अधिक मात्रा में एमएसपी पर उपज खरीद की बात हो या अन्य किसी राहत की बात हो। अब गहलोत सरकार ने कोरोना और टिड्डियों के प्रकोप से त्रस्त प्रदेश के किसानों को एक और बड़ी राहत दी है।

ऋण चुकाने की अवधि 31 अगस्त तक बढ़ाई गई

गहलोत सरकार ने किसानों को बड़ी राहत देते हुए खरीफ और रबी सहकारी फसली ऋण को चुकाने की अवधि 31 अगस्त तक बढ़ा दी है। इस फैसले से प्रदेश के लाखों किसान लाभान्वित होंगे। किसानों को खरीफ-2019 सीजन में लिए गए फसली ऋण 31 मार्च तक चुकाना था, लेकिन पहले इस तिथि को बढ़ाकर 30 जून किया गया था और अब कोरोना महामारी को देखते हुए इस अवधि को बढ़ाकर 31 अगस्त कर दिया गया है, ताकि ऋण पर शून्य प्रतिशत ब्याज सुविधा का लाभ प्रदेश के किसानों को मिल सके।

कोरोना लॉकडाउन के चलते किसानों को ऋण जमा करवाने में हो रही थी परेशानी

किसानों को कोरोना लॉकडाउन के चलते लोन जमा करवाने में परेशानी हो रही थी और तिथि आगे बढ़ाने की मांग उठ रही थी। बता दें सहकारी बैंकों द्वारा किसानों को शून्य प्रतिशत ब्याज पर अल्पकालीन फसली ऋण उपलब्ध करवाया जाता है। सहकारी बैंकों को इस पर सात प्रतिशत ब्याज मिलता है, जिसमें से 4 प्रतिशत केन्द्र और 3 प्रतिशत राज्य सरकार वहन करती है। कोरोना काल में किसानों की परेशानी को देखते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने लोन चुकाने की तिथि को आगे बढ़ाने का निर्णय किया है। खरीफ-2019 के साथ ही रबी 2019-20 सीजन में फसली लोन लेने वाले किसानों को भी इसका लाभ मिलेगा। क्योंकि जो किसान रबी-2019 का ऋण 30 जून तक जमा नहीं करवा पाए थे, वे ऋण ओवरड्यू होने के कारण खरीफ -2020 के लिए ऋण लेने के लिए अपात्र हो जाते। ऐसे किसानों को अब राहत मिलेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here