Home Politics सीएम गहलोत ने अब पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के मुद्दे पर केंद्र...

सीएम गहलोत ने अब पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के मुद्दे पर केंद्र को घेरा, दी ये सलाह

154
0

द एंगल।

जयपुर।

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोमवार को ट्वीट करते हुए केंद्र सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने देश में बढ़ती तेल की कीमतों पर सवाल उठाया। उन्होंने लिखा कि देश में तेल की कीमतों में वृद्धि भाजपा के पूरी तरह असंवेदनशील शासन का प्रमाण है। एनडीए ऐसे समय में मुनाफाखोरी कर रहा है जब लोग इतनी कठिनाइयों का सामना कर रहे हैं। सरकार को जनता का पलायन रोकना चाहिए।

कांग्रेस ने पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर शुरु किया अभियान

गहलोत ने लिखा कि पिछले एक महीने में, पेट्रोल और डीजल की कीमतों में लगभग हर दिन बढ़ोतरी हुई है। इस तरह की निरंतर कीमतों में बढ़ोतरी गलत नीतियों का परिणाम है। पेट्रोल, डीजल की बढ़ोतरी से महंगाई बढ़ेगी, परिवहन लागत बढ़ेगी, कृषि निवेश महंगा होगा। गहलोत ने कहा कि कांग्रेस पार्टी राष्ट्र में निरंतर और अभूतपूर्व तेल वृद्धि का विरोध करने के लिए एक अभियान शुरू कर रही है। लड़ाई में शामिल हों और अपनी आवाज़ लोगों तक पहुंचाएं।

राहुल गांधी के दिए दो अहम् सुझावों पर अमल कर देशवासियों को राहत दे केंद्र

भारत कोरोना, बेरोजगारी और आर्थिक संकट सहित कई अन्य परेशानियों के दौर से वर्तमान में गुज़र रहा है। हर व्यक्ति परेशान है। ऐसे में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने न्याय योजना पैकेज और एमएसएई के लिए स्पेशल पैकेज देने जैसे दो महत्वपूर्ण सुझाव सरकार को दिए हैं। अगर सरकार उनके इन सुझावों पर अमल करती है तो लोगों को काफी राहत मिलेगी। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी देश और देशवासियों के साथ हैं। उन्होंने कोरोना महामारी और पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों की वजह से आमजन को हो रही परेशानियां साझा की हैं।

ये समय लोगों की परेशानी बढ़ाने का नहीं, कम करने का है- सीएम

सोनिया गांधी ने इस बात की ओर भी केंद्र सरकार का ध्यान आकर्षित किया कि इस संकट की घड़ी में केंद्र सरकार का फर्ज है कि वो देशवासियों को सहयोग दे, इसके बावजूद केंद्र सरकार लगातार अपना खजाना भरने में जुटी हुई है। इसलिए पेट्रोल-डीजल की कीमतों में की जरा रही निरंतर बढ़ोतरी पूरी तरह अनुचित है। हम सोनिया गांधी के नेतृत्व में केंद्र सरकार ये यह मांग करते हैं कि वह इन बढ़ी हुई कीमतों को वापस ले और उनकी परेशानी कम करे। ये समय उन्हें राहत देने का है न कि उनकी पीड़ा को बढ़ाने का।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here