Home International Health प्रदेश में बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामलों को लेकर सीएम गहलोत हुए...

प्रदेश में बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामलों को लेकर सीएम गहलोत हुए गंभीर, जनहित में लिया ये बड़ा फैसला

213
0
संबंधित अधिकारियों के साथ कोरोना की समीक्षा बैठक करते राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत

द एंगल।

जयपुर।

राजस्थान में कोरोना संक्रमण (COVID-19) के तेजी से बढ़ते मामलों के बीच गहलोत सरकार ने बड़ा फैसला (Big decision) किया है। प्रदेश सरकार ने अब राज्य के सभी जिला मजिस्ट्रेट को 21 नवंबर से धारा-144 (Section-144) लगाने के अधिकार दे दिए हैं। यानि अब जिला कलेक्टर्स कोरोना की स्थिति की गंभीरता को देखते हुए अपने यहां धारा-144 लागू कर सकेंगे। इस संबंध में गृह विभाग के ग्रुप-9 ने सभी जिला मजिस्ट्रेट को परामर्श जारी कर दिया है। बता दें जिला मजिस्ट्रेट की पावर 18 नवंबर को धारा-144 समाप्त होने के साथ ही समाप्त हो गई थी। अब जिला मजिस्ट्रेट लंबे समय के लिए राज्य सरकार के परामर्श से ही धारा-144 लगा सकता है।

सीएम गहलोत ने की जनता से एक जगह एकत्र नहीं होने की अपील

धारा-144 लागू होने के बाद एक जगह पर 4 लोगों से ज्यादा के एकत्र होने पर प्रतिबंध लग जाएगा और इसका उल्लंघन करने वालों पर नियमानुसार कार्रवाई की जा सकेगी। इसके अलावा सीएम गहलोत ने कोरोना के तेजी से फैल रहे संक्रमण के मद्देनजर आमजन से बड़ी संख्या में एक जगह एकत्र नहीं होने की अपील की है। गहलोत ने सभी से अपील है कि इसका पालन करें, सरकार बल का प्रयोग करने की बजाय चाहती है कि इसका पालन करने में जनता आगे बढ़कर सहयोग करे।

धारा-144 वाले क्षेत्रों में 4 से ज्यादा लोगों के इकट्ठा होने पर होता है प्रतिबंध

गौरतलब है कि किसी जिले में धारा-144 को लागू करने के लिए जिला मजिस्ट्रेट द्वारा एक नोटिफिकेशन जारी किया जाता है। उसके बाद उस इलाके में यह धारा प्रभावी हो जाती है। जिस इलाके धारा-144 लागू होती है वहां 4 या उससे ज्यादा लोग सार्वजनिक जगहों पर इकट्ठे नहीं हो सकते। उस क्षेत्र में पुलिस और सुरक्षा बलों को छोड़कर किसी के भी हथियार लाने और ले जाने पर रोक लग जाती है। लोगों का घर से बाहर घूमना प्रतिबंध हो जाता है। कोई भी यातायात धारा- 144 लगे रहने तक रोक दिया जाता है।

दिवाली के बाद कोरोना संक्रमण के मामलों में आई तेजी

उल्लेखनीय है दिवाली के दौरान बाजारों में जबर्दस्त भीड़ उमड़ी थी। उसके बाद कोरोना पॉजिटिव केस आने की तादाद भी बेतहाशा बढ़ गई है। गत दो-तीन दिन से प्रदेशभर में औसतन दो से ढाई हजार से बीच कोरोना पॉजिटिव संक्रमित सामने आ रहे हैं। इसको देखते हुये राज्य सरकार ने जिला कलेक्टर्स को यह परामर्श जारी किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here