Home Business आमजन में चर्चा, क्या राज्य में फिर लगेगा लॉकडाउन ? प्रदेश की...

आमजन में चर्चा, क्या राज्य में फिर लगेगा लॉकडाउन ? प्रदेश की अर्थव्यवस्था फिर हो सकती है बेपटरी

25
0
जयपुर में वीकएंड कर्फ्यू के दौरान सड़कों पर पसरा सन्नाटा

The Angle

जयपुर।

राजस्थान में प्रदेश सरकार कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए लगातार हालातों की समीक्षा कर रही है, इसके साथ ही जरूरी फैसले भी ले रही है। इस बीच आज मुख्यमंत्री ने एकबार फिर से मंत्रिमंडल की बैठक बुलाई है और शाम को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कोरोना संक्रमण और वैक्सीनेशन को लेकर समीक्षा बैठक करेंगे। यह बैठक आमजन के लिए भी ओपन रखी गई है, ताकि इस बात को जान सके कि राज्य की सरकार उनके हित में क्या कुछ कर रही है। इससे पहले मुख्यमंत्री राज्य में नाइट कर्फ्यू का टाइम बढ़ाकर शाम 6 बजे से सुबह 5 बजे तक कर चुके हैं और शुक्रवार शाम 6 बजे से सोमवार सुबह 5 बजे तक वीकेंड कर्फ्यू का ऐलान किया गया है।

गहलोत सरकार कोरोना संक्रमण रोकने को लेकर आज कर सकती है बड़ा ऐलान

ऐसे में आज होने वाली समीक्षा बैठक और उसके बाद वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ही होने वाली प्रेस कॉन्फ्रेंस ने प्रदेशवासियों की धड़कनें बढ़ाई हुई हैं। हर कोई इसी के कयास लगाने में लगा हुआ है कि अब आखिर सीएम गहलोत क्या बड़ा ऐलान करने वाले हैं। वहीं कहा जा रहा है कि सरकार कोरोना संक्रमण से सख्ती से निपटने के लिए प्रदेश में 15 दिन के लॉकडाउन का भी ऐलान कर सकती है। इसके बाद से ही आमजन में इस बात को लेकर चर्चाएं जोरों पर हैं कि राज्य सरकार का इस तरह लॉकडाउन लगाने का फैसला क्या सही होगा ?

जमाखोरी बढ़ेगी, फिर बेपटरी हो जाएगी अर्थव्यवस्था

राज्य के व्यापारी और उद्योगपति वर्ग ने जहां अभी से ही राज्य सरकार से टैक्स सहित अन्य तरह की रियायतें दिए जाने की मांग उठाना शुरू कर दिया है। वहीं यह सवाल भी उठाया जा रहा है कि जबकि राजस्थान में अन्य राज्यों की तुलना में हालात काफी बेहतर हैं, उसके बावजूद पूरे प्रदेश में 15 दिन का लॉकडाउन लगाए जाने का विचार कितना सही है ? हालांकि कई चिकित्सा विशेषज्ञों की ओर से लगातार यही सुझाव दिए जा रहे हैं कि राज्य सरकार प्रदेश में कुछ दिन के पूर्ण लॉकडाउन पर विचार कर सकती है। वहीं दूसरे वर्गों से जुड़े लोगों का कहना है कि अगर राज्य में 15 दिन का पूर्ण लॉकडाउन लगाया गया, तो जहां राशन से लेकर खाद्य सामग्रियों सहित अन्य सामान की जमाखोरी बढ़ जाएगी, वहीं राज्य की अर्थव्यस्था भी फिर से बेपटरी हो जाएगी।

सीएम कह चुके- आमजन की जान बचाने के लिए सरकार करेगी सख्ती

हालांकि कई वीडियो कॉन्फ्रेंस और कोरोना समीक्षा बैठकों के दौरान मुख्यमंत्री खुद इस बात को स्पष्ट कर चुके हैं कि राज्य सरकार की प्रदेस में लॉकडाउन लगाने की मंशा नहीं है, क्योंकि आजीविका बचाना भी राज्य सरकार की प्राथमिकता है। लेकिन वे ये भी साफ कर चुके हैं कि अगर आमजन की जान बचाने के लिए राज्य सरकार को सख्ती करनी पड़ी, तो भी राज्य सरकार पीछे नहीं हटेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here