Home Business इस एक फैसले से सीएम गहलोत ने जीत लिया व्यापारियों का दिल

इस एक फैसले से सीएम गहलोत ने जीत लिया व्यापारियों का दिल

247
0

The Angle

जयपुर।

जयपुर ग्रेटर नगर निगम के लाइसेंस शुल्क मामले राज्य सरकार ने व्यापारियों को बड़ी राहत दी है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के निर्देश पर स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल ने लाइसेंस शुल्क वसूली के आदेश पर रोक लगा दी है। जानकारी के मुताबिक धारीवाल ने सीएम गहलोत को मामले की जानकारी दी थी। इसके बाद सीएम के निर्देश पर निगम के आदेश पर रोक लगाई गई। कोरोना के कारण हुए उपजे विषम आर्थिक हालातों के कारण रोक लगाई गई है।

ट्रेड यूनियन प्रतिनिधियों को कांग्रेसी विधायकों ने दिया था सकारात्मक आश्वासन

इससे पहले ट्रेड यूनियन के प्रतिनिधियों ने मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास के सरकारी आवास पर जाकर मुख्य सचेतक महेश जोशी, विधायक अमीन कागजी और रफीक खान से मुलाकात कर अपना पक्ष रखा था। ग्रेटर नगर निगम की ओर से लाइसेंस शुल्क वसूली को लेकर जारी किए गए नोटिस पर कांग्रेसी नेताओं ने भी नाराजगी जताई थी। उनका कहना था कि राज्य सरकार को विश्वास में लिए बगैर इस तरह निगम मेयर द्वारा दुकानदारों और रेहड़ीवालों को नोटिस देने का फैसला सही नहीं है। इसके बाद व्यापारियों के प्रतिनिधिमंडल को सभी नेताओं ने सकारात्मक आश्वासन देते हुए सरकार के सामने उनका पक्ष रखने की बात कही थी। इसके बाद शहर के कांग्रेस विधायकों और शहर के व्यापारियों के प्रतिनिधिमंडल ने यूडीएच मंत्री धारीवाल से लाइसेंस शुल्क के नाम पर वसूली पर रोक लगाने की मांग की थी।

व्यापारिक संगठनों ने किया था जयपुर बंद का आह्वान

गौरतलब है कि भाजपा इस मसले को राज्य सरकार को घेरने के एक मुद्दे के रूप में देख रही थी। वहीं शहर के कई व्यापारिक संगठनों ने भी इसके विरोध में जयपुर बंद का आह्वान किया था। शहर के व्यापारियों के हित में लिए गए सरकार के इस फैसले से भाजपा की सारी तैयारियां धरी की धरी रह गईं।

Previous articleरणनीति कमेटी के साथ प्रियंका ने लिया फैसला, उप्र में कांग्रेस निकलेगी प्रतिज्ञा यात्रा
Next articleगांव-ढाणियों तक पहुंचेगा बांग्लादेश निर्माण का इतिहास, कांग्रेस चलाएगी विशेष अभियान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here