Home Rajasthan प्रदेश को घुंघट मुक्त बनाने के लिए सरकार की पहल

प्रदेश को घुंघट मुक्त बनाने के लिए सरकार की पहल

115
0

The Angle

जयपुर।

राजस्‍थान के मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत अधिकांशतया अपने जनसंबोधन के दौरान सभी समाजों के लोगों से समाज में व्याप्त घुंघट प्रथा को समाप्त करने की अपील करते नज़र आते हैं। क्योंकि मुख्यमंत्री का मानना है कि घुंघट के चलते महिलाएं घर की चारदीवारी में कैद होकर रह जाती हैं। ऐसे में वे न तो आर्थिक रूप से सक्षम हो पाती हैं और न ही देश को आगे बढ़ाने में कोई विशेष योगदान ही दे पाती हैं। इतना ही नहीं राजस्थान के अलावा देश के किसी अन्य राज्य में यह प्रथा अब प्रचलित नहीं है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री के आह्वान के बाद राजधानी जयपुर में जिला प्रशासन की ओर से घुंघट मुक्त समाज बनाने को लेकर जन जागरूकता अभियान चलाया गया। इस अभियान का नाम दिया गया ‘घुंघट मुक्‍त जयपुर’।

 

घुंघट मुक्त प्रदेश होने से साफ होगा महिला सशक्तिकरण का रास्ता

जिला प्रशासन के घुंघट मुक्‍त जयपुर अभियान का उद्देश्‍य नागरिकों को पीढ़ियों से चली आ रही इस कुप्रथा के बारे में शिक्षित करना है, ताकि समाज में महिला सशक्तिकरण और लैंगिक समानता का रास्‍ता साफ हो सके। यही नहीं, राज्‍य में आगामी पंचायत चुनाव में भी महिलाओं को घुंघट नहीं करने के लिए प्रेरित किया जाएगा।

 

प्रदेश से घुंघट हटाने के लिए सोशल मीडिया की भी मदद

यह जागरूकता अभियान वाट्सऐप और सोशल मीडिया वेबसाइटों, स्‍कूलों और गांवों में महिला ग्राम सभा के माध्‍यम से घुंघट मुक्त जयपुर अभियान चलाया जाएगा। महिला सशक्तिकरण के डिप्टी डायरेक्‍टर राजेश डोगीवाल ने कहा, ‘सभी सरकारी स्‍कूलों में स्‍कूली बच्‍चों के माता-पिता और संरक्षकों को बाल सभा के दौरान इस कुप्रथा के बारे में जागरूक किया जाएगा।’

 

वोट देते समय घुंघट से बचने पर जोर

डोगीवाल ने कहा, ‘गांवों में पंचायत चुनाव के दौरान महिलाओं को वोट देते समय घुंघट नहीं करने के लिए प्रेरित किया जाएगा। जागरूकता अभियान के तहत प्रत्येक गुरुवार को ग्राम पंचायत स्‍तर पर महिला सभा का आयोजन किया जाएगा। इसमें आंगनवाड़ी वर्कर्स को भी शामिल किया जाएगा।’ जयपुर जिला कलक्‍टर जोगा राम ने कहा, कि घुंघट मुक्‍त जयपुर की दिशा में यह पहली बैठक थी। उन्‍होंने कहा कि इस अभियान को सफल बनाने के लिए समाज के सभी तबके को साथ आना होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here