Home International Health प्रदेश में कोरोना संक्रमितों का गढ़ बना जयपुर

प्रदेश में कोरोना संक्रमितों का गढ़ बना जयपुर

178
0

द एंगल।

जयपुर।

राजस्थान में कोरोनो संक्रमित लोगों की संख्या बढ़ती ही जा रही है। आज बुधवार सुबह भी 5 नए संक्रमित मिले। इनमें से 3 जयपुर के रामगंज और घाट गेट इलाके से हैं। तीनों पहले पॉजिटिव मिल चुके लोगों के संपर्क में आने से संक्रमित हुए हैं। वहीं, बीकानेर और बांसवाड़ा में भी 1-1 केस सामने आया। इसके बाद राजस्थान में कुल संक्रमित लोगों का आंकड़ा 348 पर पहुंच गया है। वहीं अब तक 6 लोगों की संक्रमण के चलते जान जा चुकी है। इससे पहले मंगलवार को राज्य में 42 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आए थे। इनमें जोधपुर में 9, जैसलमेर में 13, बांसवाड़ा में 7, जयपुर में 6, भरतपुर और बीकानेर में 3-3, और चूरू का 1 केस सामने आया था।

जयपुर में अब कम्युनिटी संक्रमण का डर

जयपुर में संक्रमितों का कुल आंकड़ा 111 पर पहुंच गया है। इसमें शहर के रामगंज और उसके आसपास के इलाके के 99 लोग हैं। इनमें से 13 संक्रमित जमाती बताए जा रहे हैं। बाकी ओमान से लौटे एक संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से पॉजिटिव हुए हैं। जयपुर में करीब 10 दिनों से रामगंज और उसके आसपास के इलाके को सील किया हुआ है और कल परकोटा और उसके आसपास के क्षेत्र में महाकर्फ्यू लगा दिया गया है। जयपुर में इसके बाद अब इस क्षेत्र में केवल चिकित्सा और स्वास्थ्य कर्मियों को ही प्रवेश की अनुमति होगी। इनके अलावा अतिआवश्यक सेवाओं को भी क्षेत्र में प्रतिबंधित कर दिया गया है।

जोधपुर: अब तक 30 शहर में और 36 ईरान से एयरलिफ्ट किए गए संक्रमित मिले

जोधपुर शहर में अब तक 13 महिलाओं सहित कुल 30 कोरोना पॉजिटिव मिल चुके हैं। इनमें से 3 तुर्की से और 3 इंग्लैंड से लौटे हैं। जबकि मुंबई से जोधपुर तक की ट्रेन यात्रा के दौरान तुर्की से लौटने वाले पति-पत्नी के संपर्क में आने से एक युवती संक्रमित हो गई।

नागौर: स्क्रीनिंग करने पहुंची टीम को NRC टीम समझा, लोगों ने रजिस्टर फाड़ा

नागौर के मकराना में कोरोना वायरस के चलते स्वास्थ्य विभाग की टीम शहर में स्क्रीनिंग कर रही है। मंगलवार को टीम को विरोध का सामना करना पड़ा। यहां कई मोहल्लों में लोगों ने NRC और NPR करने का आरोप लगाकर टीम को स्क्रीनिंग नहीं करने दी। लोगों ने टीम के साथ बदलसूकी की डाटा रजिस्टर फाड़ दिया।

भीलवाड़ा: 10 दिन में सिर्फ एक केस आया

भीलवाड़ा मे पिछले सोमवार यानि 29 मार्च से सिर्फ एक केस सामने आया है। वह केस 4 दिन पहले सामने आया था। वहीं, 27 में से 14 लोगों की रिपोर्ट भी नेगेटिव आ चुकी है। इसमें से 9 को डिस्चार्ज भी कर दिया गया है। पूरे शहर में 13 अप्रैल तक महाकर्फ्यू लगा है।

झुंझुनूं: शहर की सीमा पर ही होगी कोरोना की जांच

झुंझुनूं में 23 केस सामने आ चुके हैं। पूरे प्रदेश में झूंझुनूं ऐसा जिला है, जहां कोरोना सबसे ज्यादा 8 कस्बों तक पहुंच गया है। कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रभाव के बाद बॉर्डर एरिया को सील कर दिया गया है। अब जिले में प्रवेश के सभी मार्गों पर मेडिकल टीम तैनात रहेगी, जो आने वाले हर व्यक्ति की जांच करेगी और उसके बाद ही जिले में प्रवेश दिया जाएगा। यदि जांच में संदिग्ध लगा तो उसे वहां से सीधे क्वारंटाइन सेंटर भेज दिया जाएगा।

कोटा: लोग अब घर बैठे मंगवा सकेंगे राशन

कोटा में कोरोना के अब तक 10 मामले सामने आ चुके हैं। जिसके बाद अब लोगों को घरों से निकलने की प्रशासन ने मनाही कर दी है। शहर में बढ़ते खतरे को देखते हुए प्रशासन ने नागरिकों को अपने आसपास की किराना दुकान से राशन सामग्री की होम डिलीवरी के लिए व्यवस्था की है।

राजस्थान के 22 जिलों में कोरोना, सबसे ज्यादा 111 जयपुर में

राजस्थान के 33 में से 22 जिलों में मंगलवार दोपहर तक कोरोना के केस मिल चुके हैं। सबसे ज्यादा जयपुर में 111 (2 इटली के नागरिक) पॉजिटिव मिल चुके हैं। जोधपुर 66 (इसमें 36 ईरान से आए), भीलवाड़ा में 27, झुंझुनूं में 23, टोंक में 20, बीकानेर में 15, जैसलमेर में 14, चूरू में 11, कोटा में 10, बांसवाड़ा में 10, भरतपुर में 8, दौसा में 6, डूंगरपुर में 5, अजमेर में 5, अलवर में 5, उदयपुर में 4, प्रतापगढ़ में 2, पाली में 2, करौली, नागौर, धौलपुर और सीकर में 1-1 कोरोना संक्रमित मिला है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here