Home National जमात-उल-विदा की नमाज के दौरान यह नजारा देख छलक आए जामा मस्जिद...

जमात-उल-विदा की नमाज के दौरान यह नजारा देख छलक आए जामा मस्जिद शाही इमाम के आंसू

132
0

द एंगल।

नई दिल्ली।

कल देशभर में रमजान का आखिरी जुमा मनाया गया और जमात-उल-विदा की नमाज अदा की गई। यूं भी हर जुमे को ही यहां नमाज अदा करने वालों की इतनी भारी भीड़ होती है कि पैर रखने की जगह मिलना भी मुश्किल हो जाता है। फिर इस बार तो मौका भी खास था। रमजान का आखिरी जुमा जो था और अलविदा की नमाज पढ़ी जानी थी। मगर दिल्‍ली की जामा मस्जिद में का नजारा बेहद अलग दिखा।

दरअसल देशभर में कोरोना वायरस के चलते कई तरह की बंदिशें लगा दी गई हैं। इसी वजह से धार्मिक स्‍थल बंद हैं। ऐसे में अलविदा की नमाज में भी जामा मस्जिद का स्‍टाफ और शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी के परिवार के कुछ सदस्‍य ही शामिल हुए। यूं तो यह बहुत ही सुकून वाली बात है कि लोग अपनी सुरक्षा के मद्देनजर सरकारी हिदायतों को मान रहे हैं। लेकिन बुखारी अपनी तकरीर के दौरान थोड़ा भावुक हो गए और रुमाल से अपने आंसू पोंछते दिखाई दिए। दिल्‍ली में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने सरकारी गाइडलाइंस के अनुसार, घरों के भीतर नमाज पढ़ी।

जुमे की नमाज के दौरान जहां हजारों की भीड़ उमड़ती थी, वहां सन्‍नाटा

दिल्‍ली की जामा मस्जिद में हर जुमे पर सैकड़ों-हजारों की संख्‍या में लोग जुटते हैं। लेकिन पिछले दो महीने से लॉकडाउन की वजह से मस्जिद में सन्नाटा पसरा हुआ है। लॉकडाउन के दौरान जामा मस्जिद के गेट बंद ही रहे हैं, कोई भी बाहर से नमाज अदा करने नहीं आ रहा है। ईद से ठीक पहले पड़ने वाले आखिरी जुमे को मस्जिद में नजारा ऐसा ही रहा। शुक्रवार को जामा मस्जिद के स्‍टाफ और शाही इमाम के परिवार ने सोशल डिस्‍टेंसिंग के मानकों का पालन करते हुए अलविदा की नमाज अदा की। बुखारी ने अपनी तकरीर में देश की सलामती की दुआ मांगी।

जामा मस्जिद में स्टाफ और कुछ सदस्यों ने सोशल डिस्टेंसिंग डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए नमाज अदा की

घरों में नमाज अदा करें लोग

शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने बताया, ‘ बड़ी संख्या में लोग जामा मस्जिद में नमाज अदा करना चाहते थे, लेकिन उनसे कहा गया कि वे घर पर ही नमाज अदा करें और उन्होंने ऐसा ही किया। शुक्रवार को जुमे की नमाज पर जामा मस्जिद के स्टाफ और कुछ ही सदस्यों ने नमाज अदा की। इस दौरान फिजिकल डिस्टेंसिंग का पूरी तरह से पालन किया गया।’

उलेमाओं ने की थी यही अपील

लॉकडाउन का पालन करते हुए मुस्लिम समुदाय अलविदा जुमा की नमाज के लिए घरों से नहीं निकला। तमाम उलेमाओं ने बयान जारी करके लोगों को यह बताया था कि अलविदा जुमा पर घरों में कैसे नमाज अदा करनी है। इसको मानते हुए लोगों ने घरों में ही नमाज अदा की। दिल्ली की तमाम छोटी-बड़ी मस्जिदें जहां अलविदा जुमा की नमाज के वक्त पैर रखने की जगह नहीं मिलती थीं, वहां भी लोग नमाज के लिए नहीं पहुंचे।

जयपुर में भी घरों में अदा की गई नमाज

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में ही नहीं बल्कि राजस्थान की राजधानी जयपुर में भी कुछ ऐसा ही नजारा देखने को मिला। यहां भी लोगों ने घरों में रहकर ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए नमाज अदा की। वहीं उलेमाओं ने मस्जिद पहुंचकर कोरोना महामारी के जल्द से जल्द खत्म होने और देश-प्रदेश के अमन-ओ-चैन की दुआ की। बता दें जयपुर परकोटा क्षेत्र में कोरोना महामारी के चलते कर्फ्यू लगाया हुआ है। इसी के चलते इस बार ईद पर यहां के बाजार भी बेरौनक ही रहे। लोगों ने भी बिना ईद की खरीददारी किए ही घरों में रहकर ही सादगी से ईद मनाने का फैसला किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here