Home Business कोरोना महामारी के चलते जानिए कैसे बढ़ रहा है ऑनलाइन सर्विसेज का...

कोरोना महामारी के चलते जानिए कैसे बढ़ रहा है ऑनलाइन सर्विसेज का कारोबार !

152
0

द एंगल।

नई दिल्ली।

कोविड-19 के मद्देनजर देश में 14 अप्रैल तक लॉकडाउन घोषित किया हुआ है। ऐसे में सभी स्कूल, कॉलेज और कोचिंग इंस्टीट्यूट्स के अलावा अधिकांश प्राइवेट और सरकारी ऑफिस बंद हैं। ऐसे में कई लोग जहां वर्क फ्रॉम होम कॉन्सेप्ट पर काम कर रहे हैं, तो वहीं कई कोचिंग इंस्टीट्यूट्स और स्कूल अपने स्टूडेंट्स को ऑनलाइन क्लासेज के ज़रिए पढ़ाई करवा रहे हैं। ऐसे में यह दौर ऑनलाइन कंपनियों के लिए बड़ा अवसर लेकर आया है।

आईटी कंपनियों के लिए सुनहरा अवसर

देशव्यापी लॉकडाउन के चलते आईटी कंपनियों को अपना कारोबार बढ़ाने का एक सुनहरा मौका दिया है। बता दें देश में 3 अरब डॉलर से अधिक ऑनलाइन एजुकेशन का कारोबार है। लॉकडाउन के चलते छात्रों को शुरुआत में काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा था, लेकिन कई कोचिंग और एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स ने इसका उपाय निकाल लिया है। वे अब अपने स्टूडेंट्स को मोबाइल ऐप, यूट्यूब के ज़रिए ऑनलाइन क्लासेज दे रहे हैं। स्कूलों और कोचिंग सेंटर्स ने अपने वर्चुअल क्लास और ऐप बनवाए हैं, जिन्हें आसानी से प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है और मोबाईल फोन पर ही स्कूल या सेंटर्स द्वारा भेजे गए ओटीपी को डालकर ऐप को जेनरेट करके पढ़ाई कर सकते हैं।

लॉकडाउन के चलते बढ़ी ऑनलाइन सर्विसेज की वैल्यू

आईटी एक्सपर्ट्स का कहना है कि लॉकडाउन ने यह आईटी कंपनियों और सॉफ्टवेयर डवलपिंग फील्ड में काम करने वाले प्रोफेशनल्स के लिए एक बड़ा अवसर दिया है। बैंकिंग, एजुकेशन, ई-कॉमर्स से लेकर तमाम तरह की सेवाएं देने वाली कंपनियों को ऑनलाइन सर्विस की वैल्यू समझ में आ गई है। ऐसे में आने वाले टाइम में अपनी जरूरत के अनुरूप कंपनियां इस क्षेत्र में आगे बढ़ेंगी। इससे सॉफ्टवेयर पेशेवरों को बड़ा मौका मिलना तय है।

HRD मंत्री ने भी किया था उल्लेख

उल्लेखनीय है कि इससे पहले लॉकडाउन आगे बढाए जाने और इससे हो रहे छात्रों के नुकसान पर केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा था कि लॉकडाउन के दौरान सभी संस्थाओं द्वारा ऑनलाइन क्लास चलाने पर जोर दिया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here