Home Agriculture टिड्डी नियंत्रण के इंतज़ाम नाकाफी, सीएम गहलोत ने साधा केंद्र पर निशाना

टिड्डी नियंत्रण के इंतज़ाम नाकाफी, सीएम गहलोत ने साधा केंद्र पर निशाना

174
0

द एंगल।

जयपुर।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पहले भी विभिन्न मुद्दों पर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार को निशाने पर लेते रहे हैं और अब उन्होंने एक बार फिर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। इस बार मुख्यमंत्री ने देश में टिड्डी दल के हमले को लेकर हमला बोला है। मुख्यमंत्री ने कहा कि एक माह पहले विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ हुई प्रधानमंत्री की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान भी यह मुद्दा आया था। तब खुद पीएम मोदी ने फसलों पर टिड्डी दल के हमले को लेकर चिंता ज़ाहिर की थी और टिड्डी प्रभावित इलाकों की जानकारी मांगी थी। इसके बावजूद टिड्डीदल नियंत्रण विभाग ने समुचित तैयारियां नहीं कीं। उन्होंने विशेष रूप से इस बात का उल्लेख किया कि राजस्थान सरकार की ओर से केंद्रीय टिड्डीदल नियंत्रण विभाग को हरसंभव सहयोग किया गया इसके बावजूद भी उनकी तरफ से किए गए इंतज़ाम टिड्डियों को नियंत्रित करने में फेल रहे।

सीएम गहलोत ने ये लिखा ट्वीट में

इसे लेकर मुख्यमंत्री ने एक ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा, एक माह पहले वीसी में PM को Locust हमले की जानकारी देने पर उन्होंने भी चिंता व्यक्त करते हुए डिटेल मांगी थी परंतु Locusts Department GoI को जिस स्तर की तैयारी करनी चाहिए थी नहीं कर सका… कृषि विभाग राजस्थान सरकार द्वारा पूरा सहयोग करने के बावजूद भी। #LocustsAttack

रबी की फसल पर भी रहा था टिड्डी दल का प्रकोप

बता दें इस बार खरीफ की फसल पर देश के कई राज्यों में टिड्डीदल का प्रकोप देखा जा रहा है। खास बात यह है कि इस बार टिड्डीदल उन इलाकों तक भी जा पहुंचा है जहां पहले नहीं पहुंचता था। ऐसे में इससे देश-प्रदेश के किसानों की फसलें चौपट हो गई हैं। वहीं इससे पहले राजस्थान के कई जिलों में रबी की फसल पर भी काफी लंबे समय तक टिड्डीदल का प्रकोप देखा गया था, इससे किसानों को भारी नुकसान उठाना पड़ा था।

हनुमान बेनीवाल ने की थी टिड्डी अटैक को राष्ट्रीय आपदा घोषित करने की मांग

देश के विभिन्न राज्यों में टिड्डीदल के भारी प्रकोप को देखते हुए अब इसे राष्ट्रीय आपदा घोषित करने की मांग उठ रही है। पिछले दिनों लोकसभा सांसद हनुमान बेनीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर इसकी मांग की थी और राजस्थान सहित अन्य प्रभावित राज्यों को भी इसे नियंत्रित करने के लिए आवश्यक कदम उठाने के निर्देश देने की मांग की थी।

टिड्डी अटैक प्राकृतिक आपदा नहीं, किसानों को नहीं मिलेगा फसल बीमा योजना का लाभ

वहीं विशेषज्ञों का कहना है कि क्योंकि टिड्डीदल के प्रकोप को प्राकृतिक आपदा के दायरे में नहीं लिया गया है, इसलिए किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के जरिए भी इससे कोई राहत नहीं मिल पाएगी। कृषि मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक करीब 4 लाख हैक्टेयर की फसल पर टिड्डियों का प्रकोप हुआ है। ऐसे में नुकसान के आंकलन के लिए गिरदावरी की जा रही है। गिरदावरी रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ कहा जा सकेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here