Home Education अब CBSE की परीक्षा में इस्तेमाल कर सकेंगे केलकुलेटर, इन बच्चों को...

अब CBSE की परीक्षा में इस्तेमाल कर सकेंगे केलकुलेटर, इन बच्चों को मिलेगी ये खास सुविधा

67
0

The Angle

जयपुर।

परीक्षा की जब भी बात आती है तो ये तो हम सभी जानते हैं कि यहां किसी तरह का कोई इलेक्ट्रॉनिक या केलकुलेटिंग डिवाइस अपने साथ एक्जाम में नहीं लाने के सख्त निर्देश होते हैं। यहां तक कि अगर किसी विद्यार्थी के पास ऐसा कोई गैजेट तलाशी के दौरान या उपयोग करता हुआ पाया जाता है को उसे परीक्षा से निष्कासित कर दिए जाने का भी प्रावधान है। लेकिन अब खुद केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (Central Board of Secendary Education -CBSE) ने विद्यार्थियों को परीक्षा में कैलकुलेटर उपयोग करने की इजाज़त दी है। चौंक गए ना, लेकिन ये सच है।

 

पिछले साल पुलवामा अटैक शहीदों के बच्चों के लिए दी गई थी सुविधा

दरअसल सीबीएसई ने शहीद जवानों के बच्चों को 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में बड़ी राहत दिए जाने की घोषणा की है। बता दें बोर्ड ने पिछले साल पुलवामा अटैक के शहीदों के बच्चों को यह राहत दी थी, जिसे इस साल सभी शहीदों के बच्चों के लिए लागू कर दिया गया है।

 

बच्चों को स्कूल में संपर्क कर रीजनल ऑफिस में भिजवानी होगी रिक्वेस्ट

CBSE के परीक्षा नियंत्रक डॉ. संयम भारद्वाज की ओर से सभी स्कूलों के लिए एक सर्कुलर जारी किया गया है। इसमें कहा गया है, कि पिछले साल पुलवामा अटैक में शहीदों के बच्चों को बोर्ड परीक्षा में जिस तरह की राहत दी गई थी, उसी तरह की राहत इस साल आतंकवाद या नक्सलवाद के खिलाफ जांबाज़ी दिखाते हुए शहीद हुए लोगों के बच्चों को भी दी जाएगी। इसके लिए इस तरह के बच्चों को अपने स्कूल में संपर्क करना होगा। स्कूल स्तर से संबंधित CBSE के रीजनल ऑफिस को इसकी रिक्वेस्ट भेजी जाएगी। स्कूल से रीजनल सेंटर को रिक्वेस्ट भेजने की अंतिम तिथि 31 जनवरी तय की गई है।

 

शहीदों के बच्चों को मिलेंगी ये राहतें

-शहीद का बच्चा अगर एक ही शहर में अपना परीक्षा केंद्र दूसरी जगह पर शिफ्ट करवाना चाहता है, तो सीबीएसई उसे ये सुविधा मुहैया करवाएगा।
-शहीद के बच्चे अगर अपना परीक्षा केंद्र एक शहर से दूसरे शहर में बदलना चाहते हैं, तो सीबीएसई की ओर से उन्हें ये सुविधा भी दी जाएगी।
– ऐसे बच्चे अगर किसी वजह से अपना 10वीं या 12वीं का प्रेक्टिकल नहीं दे पाए हैं, तो उन्हें 2 अप्रैल तक अलग से प्रेक्टिकल एग्जाम में बैठने का मौका दिया जाएगा।
-अगर कोई बच्चा किसी भी विषय विशेष की परीक्षा बाद में देना चाहता है, तो बोर्ड उसकी बाद में परीक्षा का इंतजाम करेगा।

 

CBSE दून ने गंगा की अलग से करवाई थी परीक्षा

पुलवामा हमले के शहीद मोहनलाल रतूड़ी की बेटी गंगा को पिछले साल सीबीएसई देहरादून ने 12वीं परीक्षा में विशेष लाभ दिया था। गंगा ने बाद में अलग से परीक्षा दी थी। सीबीएसई देहरादून के क्षेत्रीय अधिकारी रणबीर सिंह ने बताया, कि बोर्ड ने इस बार पुलवामा के साथ ही सभी तरह के शहीदों के बच्चों के लिए यह सुविधा दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here