Home National ट्रंप के भारत दौरे पर राजनीति शुरु, कांग्रेस-भाजपा का वार-पलटवार

ट्रंप के भारत दौरे पर राजनीति शुरु, कांग्रेस-भाजपा का वार-पलटवार

160
0

द एंगल।

नई दिल्ली।

अमेरिकी राष्ट्रपति के भारत दौरे के लिए की जा रही तैयारियों पर तकरीबन 100 करोड़ रुपए खर्च किए जा रहे हैं। ऐसे में राष्ट्रपति ट्रंप के भारत आने से पहले ही राजनीति तेज हो गई है। कांग्रेस ने ट्रंप के स्वागत में अहमदाबाद में एक समिति के ज़रिए किए जा रहे खर्च पर सवाल उठाए हैं, तो वहीं बीजेपी ने भी पलटवार करते हुए पूछा है कि भारत का कद बढ़ रहा है, तो कांग्रेस खुश क्यों नहीं है ? बीजेपी ने कहा कि आज जिस तरह की डील भारत अमेरिका के साथ कर रहा है, उस तरह से यूपीए सरकार सोच भी नहीं सकती थी। उधर, कांग्रेस नेता शशि थरूर ने झुग्गियों के सामने दीवार बनाए जाने को लेकर कटाक्ष किया।

 

प्रियंका गांधी ने पूछा ‘क्या छिपा रही सरकार ?’

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट किया, ‘राष्ट्रपति ट्रंप के आगमन पर 100 करोड़ रुपए खर्च हो रहे हैं। लेकिन ये पैसा एक समिति के ज़रिए खर्च हो रहा है। समिति के सदस्यों को पता ही नहीं कि वो उसके सदस्य हैं। क्या देश को ये जानने का हक नहीं कि किस मंत्रालय ने समिति को कितना पैसा दिया ? समिति की आड़ में सरकार क्या छिपा रही है ?’

‘आत्म निरीक्षण की बजाय सवाल कर रही कांग्रेस’

वहीं कांग्रेस के सवालों पर पलटवार करते हुए बीजेपी ने पूछा है कि ट्रंप का दौरा विश्व के सबसे बड़े और पुराने लोकतंत्रों की मुलाकात है, ऐसे में कांग्रेस खुशी क्यों नहीं महसूस करती ? बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने मीडिया से कहा, ‘वैश्विक स्तर पर भारत का कद बढ़ने से कांग्रेस नाखुश क्यों है ? पात्रा ने कहा, ‘भारत और अमेरिका के संबंधों में यह मील का पत्थर माना जाने वाला क्षण है और मेरी कांग्रेस को सलाह है कि वह चिंतित होने की बजाय देश की उपलब्धियों पर गर्व करना शुरू करे।’ उन्होंने कहा कि जैसा कारोबारी सौदा और रक्षा सौदा आज हम अमेरिका के साथ देख रहे हैं, उन्हें यूपीए के समय हम सोच भी नहीं सकते थे। लेकिन कांग्रेस पार्टी आज आत्म निरीक्षण करने के बजाय सवाल कर रही है।

‘क्या 10 जनपथ मनमोहन को कायम करने देता ऐसा रुतबा ?’

पात्रा ने कहा, ‘आज हिंदुस्तान वाइट हाउस के किसी भी निर्णय में भारत फ्रंट या सेंटर में रहा है। ये हमारे लिए गर्व का विषय है।’ पात्रा ने कांग्रेस से सवाल किया कि क्या 10 जनपथ मनमोहन सिंह को वह रुतबा कायम करने देता, जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अंतरराष्ट्रीय नेताओं के बीच है ? पात्रा ने कहा कि सभी राष्ट्रों के लिए एक समय ऐसा आता है हम एक राजनीतिक दल के रूप में अपनी छोटी सी पहचान को परे रखते हुए एक राष्ट्र के रूप में सोचते हैं। बीजेपी प्रवक्ता ने कहा कि ट्रंप खुद ही कई बार कह चुके हैं कि भारत एक टफ नैगोशिएटर है और इसलिए कांग्रेस को भारत के हितों की चिंता करने की जरूरत नहीं है।

खर्च करने वाली समिति पर कांग्रेस ने उठाए सवाल

गौरतलब है कि ‘नमस्ते ट्रंप’ कार्यक्रम को लेकर कांग्रेस नेता आनंद शर्मा शुक्रवार को कहा था कि सरकार की तरफ से यह दावा किया गया कि जो इंतजाम हो रहा है वह एक ‘नागरिक अभिनंदन समिति’ की तरफ से हो रहा है। यह समिति कौन है ? यह कब बनी ? इसका पंजीकरण कब हुआ और इसके पास इतना पैसा कहां से आया ?’ कांग्रेस नेता ने कहा था कि आर्थिक क्षेत्र में सहयोग और व्यापार का वातावरण अनुकूल नहीं है। हम समझते हैं कि यह रिश्ता सिर्फ खरीददारी का नहीं हो सकता। राष्ट्र की संप्रभुता, आत्म- सम्मान और राष्ट्रहित को ध्यान में रखा जाए। गंभीरता और गहराई होनी चाहिए। यह दौरा सिर्फ तस्वीरें खिंचवाने तक सीमित नहीं होना चाहिए।

 

शशि थरूर ने शायरी के ज़रिए किया कटाक्ष

उधर ट्रंप के रूट पर झुग्गियों के सामने दीवार बनाए जाने को लेकर शशि थरूर ने शायराना अंदाज़ में कटाक्ष किया। उन्होंने लिखा, इन दीवारों से साफ ज़ाहिर है, वो दिखावे में खूब माहिर हैं, इस गरीबी से अमीरी का सफ़र कुछ ही लम्हों में नाप देता है, करता इतना ही है “थरूर” वो बस, सच…दीवारों से ढांप देता है।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here