Home Business पांच राज्यों में चुनाव खत्म होते ही बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम

पांच राज्यों में चुनाव खत्म होते ही बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम

14
0
पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़े

The Angle
नई दिल्ली।

पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव खत्म होते ही आम आदमी की जेब का भार बढ़ा दिया गया है। दरअसल, सरकारी तेल कंपनियों ने आज एक बार फिर से पेट्रोल व डीजल की कीमतें बढ़ा दी हैं। पेट्रोल-डीजल के दाम में यह बढ़ोतरी करीब दो महीने बाद हुई है। इससे पहले, बीते 27 फरवरी को पेट्रोल 24 पैसे तो डीजल 17 पैसे प्रति लीटर महंगा हुआ था। आज पेट्रोल की कीमत में 15 पैसे, तो डीजल की कीमत में 18 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई है। दिल्ली में पेट्रोल का दाम 90.55 रुपये जबकि डीजल का दाम 80.91 रुपये प्रति लीटर है। वहीं मुंबई में पेट्रोल की कीमत 96.95 रुपये व डीजल की कीमत 87.98 रुपये प्रति लीटर है।

आम आदमी की जेब पर पड़ा भार

वहीं राजस्थान में भी आज डीजल के दाम पर 25 पैसे और पेट्रोल के दाम पर 22 पैसे की बढ़ोतरी हुई है। जिसके बाद राजधानी जयपुर में पेट्रोल के दाम बढ़कर 96 रुपए 98 पैसे और डीजल के दाम बढ़कर 89 रुपए 45 पैसे हो गए हैं। इसके साथ ही प्रीमियम पेट्रोल के दाम भी बढ़कर 100 के पार तक पहुंच गए हैं। पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ने से आम आदमी की जेब पर वापस से भार पड़ा है। पहले ही आम आदमी को कोरोना की वजह से काफी मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है। इस पर तेल के दामों में बढ़ोतरी होने से कोढ़ में खाज का काम कर रही है।

पांच राज्यों में चुनाव हुए सम्पन्न

हाल ही में देश में पांच राज्यों में विधानसभा के चुनाव हुए हैं। विधानसभा चुनाव के चलते करीब ढाई महीने से पेट्रोल-डीजल के दामों में शांति थी। जैसे ही चुनाव खत्म हुए वैसे ही तेल कंपनियों ने तेल के दामों में फिर से बढ़ोतरी कर दी है। पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने से आम आदमी की रसोई का पूरा बजट ही गड़बड़ा जाता है। तेल के दाम बढ़ने से महंगाई भी बढ़ने लगती है। तेल के दामों में बढ़ोतरी को लेकर पहले भी विरोध प्रदर्शन होते रहे हैं। तेल के दामों में रोजाना सुबह छह बजे परिवर्तन होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here