Home Rajasthan कोरोना की रफ्तार पर काबू पाने के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का...

कोरोना की रफ्तार पर काबू पाने के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का सख्त कदम, 19 अप्रैल से 3 मई तक प्रदेश में मनाया जा रहा जन अनुशासन पखवाड़ा

19
0
राजस्थान में 19 अप्रैल से 3 मई तक मनाया जा रबा जन अनुशासन पखवाड़ा (File Image)

The Angle
जयपुर।
राजस्थान में कोरोना संक्रमण की भयावह स्थिति को देखते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सख्त कदम उठाया है। प्रदेश में अब 19 अप्रैल से 3 मई तक जन अनुशासन पखवाड़ा मनाया जा रहा है। इस दौरान सीएम ने आमजन को परेशानी ना हो, इसका भी ध्यान रखा है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का हमेशा से कहना है की उनकी सरकार की प्राथमिकता लोगों की जान बचाना है। इसी के मद्देनजर सीएम ने लोगो का जीवन बचाने के साथ साथ उनकी आजीविका भी बचाई जा सके, इसका भी ध्यान रखा है।

जन अनुशासन पखवाड़ा के दौरान क्या खुला, क्या बंद?

आपको बताते है की जन अनुशासन पखवाड़े के दौरान प्रदेश में क्या खुला है और क्या बंद है।

उपयुक्त पहचान पत्र के साथ राजकीय कार्मिकों तथा जिला प्रशासन, गृह, वित्त, पुलिस, जेल, होमगार्ड, कंट्रोल रूम एवं वॉर रूम, नागरिक सुरक्षा, अग्निशमन एवं आपातकालीन सेवाएं, सार्वजनिक परिवहन आपका प्रबंधन खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति, नगर निगम, नगर विकास प्रन्यास, विद्युत पेयजल स्वच्छता, टेलीफोन, स्वास्थय एवं परिवार कल्याण और चिकित्सा संबंधी इत्यादि को मिलेगी छूट।

केन्द्र सरकार की आवश्यक सेवाओं से जुड़े कार्यालय एवं संस्थान अनुमत रहेंगे। संबंधित कार्मिक उपयुक्त पहचान पत्र के साथ अनुमती होगी।

बस स्टैंड, रेलवे, मेट्रो स्टेशन और एयरपोर्ट से आने जाने वाले व्यक्तियों को यात्रा टिकट दिखाने पर आवागमन की अनुमति होगी। राज्य में आने वाले यात्रियों को यात्रा शुरू करने के पिछले 72 घंटे के अंदर करवाई आरटी पीसीआर टेस्ट रिपोर्ट दिखाना अनिवार्य होगी।

इनके अलावा सभी कार्यालय बंद रहेंगे।

गर्भवती महिलाओं और रोगियों को चिकित्सीय एवं स्वास्थय सेवाओं के परामर्श के लिए मिलेगी छूट।

सभी निजी चिकित्सालय, लैब एवं उनसे संबंधित कार्मिक (उपयुक्त पहचान प्तर के साथ) जैसे डॉक्टर, नर्सिंग स्टाफ, पैरामेडिकल एवं अन्य चिकित्सा स्वास्थय सेवाएं को अनुमति।

खाद्य पदार्थ एवं किराने का सामान, मंडिया, फल एवं सब्जियां, डेयरी और दूध, पशुचारा से संबंधित खुदरा रिटेल, थोक होलसेल दुकाने शाम पांच बजे तक अनुमती होगी।

सब्जियां एवं फलों को ठेले, साईकिल, रिक्शा, ऑटो रिक्शा, मोबाइल वैन द्वारा शाम 7 बजे तक बेचा जा सकेगा।

अंतरराज्यीय एवं राज्य के अंदर माल परिवहन करने वाले भार वाहनों के आवागमन माल के लोडिंग एवं अनलोडिंग तथा उक्त कार्य के लिए नियोजित व्यक्ति को रहेगी छूट।

राष्ट्रीय एवं राज्य मार्गों पर संचालित ढाबे एवं वाहन रिपेयर की दुकान खुली रहने की छूट होगी।

फसलों की आवक मंडियों में हो रही तथा समर्थन मूल्य पर फसलों को क्रय किया जा रहा यह कार्रवाई भी अनुमत होगी।

कृषकों का मंडी पहुंचने और वापस जाने के अतिरिक्त मंडी परिसर से बाहर आवागमन पूर्णत प्रतिबंधित रहेगा।

साथ ही कृषकों को मंडी जाते समय अपने माल का सत्यापन और वापस जाते समय बिक्री की रसीदे बिल का सत्यापन करवाना अनिवार्य होगा।

राशन की दुकानें बिना किसी अवकाश के खुली रहेंगी.45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों को जिन्होंने टीकाकरण के लिए पहले से रजिस्ट्रेशन करवा रखा है, को टीकाकरण के लिए टीकाकरण स्थल पर जाने की अनुमति होगी। लेकिन साथ में रजिस्ट्रेशन संबंधी दस्तावेज और अपना आईडी कार्ड साथ में रखना अनिवार्य होगा।

समाचार पत्र वितरण के लिए सुबह 4 से 8 तक छूट रहेगी।

प्रिंट और इलेक्ट्राॅनिक मीडिया कार्मिको को परिचय पत्र के साथ आने जाने की छूट रहेगी।

विवाह समारोह एवं अंतिम संस्कार के लिए पहले वाली गाइडलाइन प्रभावी रहेगी।

एडमिट कार्ड दिखाकर परीक्षा केन्द्र तक जाने की अनुमति होगी।

दवा और चिकित्सकीय उपकरणों की दुकाने खुली रहेंगी।

आईटी, बैंकिंग सेवाएं भी सुचारू रहेंगी.ई-कॉमर्स के जरिए भोजन सामग्री, दवा समेत जरूरी वस्तुओं मंगवाई जा सकेंगी।

रेस्टोरेंट से रात आठ बजे तक होम डिलीवरी हो सकेगी.रोजगार गारंटी योजना, अन्य ग्रामीण विकास योजनाओं के अंतर्गत कार्यरत श्रमिकों को छूट रहेगी.एलपीजी, पेट्रोल पंप, सीनएजी के आउटलेट सेवाओं को रात 8 बजे तक अनुमति रहेगी।

निजी सुरक्षा सेवाओं, कोल्ड स्टोरेज और वेयर हाउसिंग सेवाओं को अनुमति होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here