Home Rajasthan किसानों के बाद अब गरीबों के मसीहा बने राजस्व मंत्री हरीश चौधरी

किसानों के बाद अब गरीबों के मसीहा बने राजस्व मंत्री हरीश चौधरी

1005
0
फाइल फोटो

द एंगल।

बायतू।

माधुसिंह गोरा।

चुनावों के दौरान वोट मांगने के लिए तो हर नेता ही जनता के सुख-दुःख में काम आने का दावा करता है, लेकिन असल नेता वह है जो जरूरत पड़ने पर अपने इस वादे पर खरा उतरे। ऐसे ही नेता हैं राजस्थान सरकार में राजस्व मंत्री हरीश चौधरी। इन दिनों चाहे बात प्रदेश के किसानों की हो या अन्य किसी विपदा में फंसे प्रदेशवासी की, हरीश चौधरी हर जगह आमजन के सहयोग के लिए तत्पर नजर आते हैं।

लोग कर रहे हरीश चौधरी के नाम की चर्चा

राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने 14 साल की बेटी के उपचार का जिम्मा उठाकर यह साबित भी कर दिया है कि वे कभी किसी पीड़ित व्यक्ति की मदद करने से भी पीछे नहीं हटेंगे। इससे पहले चौधरी ने सिवाना के मायलावास की एक महिला के होम लोन की बकाया राशि भी खुद चुकाकर महिला के खुद के घर का सपना पूरा किया था। अब गिड़ा के श्यामपुरा की बेटी की मदद करने के बाद मंत्री हरीश चौधरी का नाम लोगों के किस्सों-चर्चाओं का हिस्सा बनने लगा है।

माता-पिता देना चाहते थे किडनी लेकिन इलाज के नहीं थे पैसे, मदद को आगे आए चौधरी

दरअसल बाड़मेर जिले की गिड़ा तहसील के श्यामपुरा के रहने वाले खेताराम भील की बेटी कंवर पाल गुर्दे खराब होने की वजह से पिछले 3 साल से इलाज के इंतज़ार में थी। माता-पिता दोनों की अपनी बेटी की जिंदगी बचाने के लिए अपनी किडनी देने को तैयार थे, लेकिन बात इलाज के खर्च पर आकर अटक गई। क्योंकि खेताराम की आर्थिक स्थिति ऐसी नहीं थी कि वह लाखों रुपए खर्च कर अपनी बेटी का इलाज करवा सके। लेकिन जब मीडिया के जरिए मामले की जानकारी राजस्व मंत्री को मिली तो उन्होंने माता-पिता की चिंता दूर करते हुए इस बेटी के इलाज का पूरा खर्च खुद उठाने की बात कही। अब मंत्री चौधरी के इस सराहनीय कदम की क्षेत्रवासी खुलकर सराहना कर रहे हैं।

मंत्री हरीश चौधरी का लोगों ने सोशल मीडिया पर जताया आभार

लोगों ने जरूरतमंद बालिका के उपचार में मदद का ऐलान करने के लिए मंत्री हरीश चौधरी का सोशल मीडिया पर आभार जताया है। लोगों का कहना है कि जरूरतमंद लोगों की मदद करना ही एक सच्चे जनसेवक की पहचान है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here