Home National सोनिया ने केंद्र से कहा- लघु उद्योगों को लोन की बजाय आर्थिक...

सोनिया ने केंद्र से कहा- लघु उद्योगों को लोन की बजाय आर्थिक मदद दीजिए, लोगों से भी की यह अपील

127
0

द एंगल।

नई दिल्ली।

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने आज गुरुवार को जनता और बीजेपी को लेकर एक वीडियो संदेश साझा किया है। इस वीडियो के जरिए उन्होंने कोरोनावायरस महामारी की वजह से देश में चुनौतियों का सामना करने वाले देश के तमाम लोगों को संदेश दिया। इस दौरान उन्होंने प्रवासी मजदूरों को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना भी साधा। Sonia ने कहा, “मेरे प्यारे भाइयों और बहनों, पिछले 2 महीने से पूरा देश कोरोना महामारी की चुनौती और लॉकडाउन के चलते रोजी-रोटी-रोजगार के गंभीर आर्थिक संकट से गुजर रहा है। देश की आजादी के बाद पहली बार वो दर्दनाक मंज़र सबने देखा। लाखों मजदूर नंगे पांव, भूखे-प्यासे, बगैर दवाई और साधनों के सैकड़ों-हजारों किलोमीटर पैदल चलकर घर वापस जाने को मजबूर हो गए। उनका दर्द, उनकी पीड़ा, उनकी सिसकी देश में हर दिल ने सुनी, पर शायद सरकार ने नहीं।”

उन्होंने आगे कहा, “करोड़ों रोजगार चले गए, लाखों धंधे चौपट हो गए, कारखाने बंद हो गए, किसान को फसल बेचने के लिए दर-दर की ठोकरें खानी पड़ीं। यह पीड़ा पूरे देश ने झेली, पर शायद सरकार को इसका अंदाजा ही नहीं हुआ।”

‘हमने शुरु से ही केंद्र सरकार को समझाने का किया प्रयास’

वीडियो संदेश में कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, “पहले दिन से ही, मेरे सभी कांग्रेस के सब साथियों ने, अर्थ-शास्त्रियों ने, समाज-शास्त्रियों ने और समाज के अग्रणी हर व्यक्ति ने बार-बार सरकार को यह कहा कि ये वक्त आगे बढ़कर घाव पर मरहम लगाने का है, मजदूर हो या किसान, उद्योग हो या छोटा दुकानदार, सरकार द्वारा सबकी मदद करने का है। न जाने क्यों केंद्र सरकार यह बात समझने और लागू करने से लगातार इनकार कर रही है।”

‘खज़ाने का ताला खोलकर जरूरतमंदों की मदद करे केंद्र’

Sonia ने कहा, “इसलिए कांग्रेस के साथियों ने फैसला लिया है कि भारत की आवाज बुलंद करने का यह सामाजिक अभियान चलाना है। हमारा केंद्र सरकार से फिर आग्रह है कि खज़ाने का ताला खोलिए और ज़रूरतमंदों को राहत दीजिए। हर परिवार को छः महीने के लिए 7,500 रुपए प्रतिमाह सीधे कैश भुगतान करें और उसमें से 10,000 रुपए फौरन दें।”

मनरेगा में मिले 200 दिन का रोजगार- सोनिया गांधी

उन्होंने आगे कहा, “मज़दूरों को सुरक्षित और मुफ्त यात्रा का इंतज़ाम कर घर पहुंचाएं और उनके लिए रोजी-रोटी का इंतज़ाम भी करें और राशन का इंतज़ाम भी करें। महात्मा गांधी मनरेगा में 200 दिन का काम सुनिश्चित करें जिससें गांव में ही रोज़गार मिल सके। छोटे और लघु उद्योगों को लोन देने की बजाय आर्थिक मदद दीजिए, ताकि करोड़ों नौकरियां भी बचें और देश की तरक्की भी हो।”

सोनिया गांधी ने सभी देशवासियों से की अपील

अपने संदेश के आखिर में Sonia ने कहा, “आज इसी कड़ी में देशभर से कांग्रेस समर्थक, कांग्रेस नेता, कार्यकर्ता, पदाधिकारी सोशल मीडिया के माध्यम से एक बार फिर सरकार के सामने यह मांगें दोहरा रहे हैं। मेरा आपसे निवेदन है कि आप भी इस मुहिम में जुड़िए, अपनी परेशानी साझा कीजिए ताकि हम आपकी आवाज को और बुलंद कर सकें। संकट की इस घड़ी में हम सब हर देशवासी के साथ हैं और मिलकर इन मुश्किल हालातों पर अवश्य जीत हासिल करेंगे। जय हिंद!”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here