Home Sports द ग्रेट वाॅल राहुल द्रविड़ हुए 47 साल के

द ग्रेट वाॅल राहुल द्रविड़ हुए 47 साल के

38
0

दा एंगल
मुंबई।
भारत की टीम के द ग्रेट वाॅल राहुल द्रविड़ आज 47 साल के हो गए हैं। राहुल द्रविड़ हमेशा से ही भारत के मध्यक्रम की रीढ़ की हड्डी रहे है। उन्होंने अपनी उन्दा पारियों की बदौलत भारत को कई मैचों में जीत दिलाई थी।

16 साल लंबा रहा क्रिकेट करियर

राहुल द्रविड़ का जन्म 11 जनवरी, 1973 को हुआ था। द्रविड़ 16 साल तक भारत की टीम का प्रतिनिधित्व किया। 16 साल के लंबे इंटरनेशनल क्रिकेट करियर में हर वह भूमिका अदा की, जो टीम को जीत की दहलीज ले जाए। राहुल द्रविड़ कभी नियमित विकेटकीपर नहीं रहे, लेकिन टीम इंडिया को जब विकेटकीपर बल्लेबाज की जरूरत पड़ी तो उन्होंने वह भूमिका भी अदा की। यह काम उन्होंने कप्तान सौरभ गांगुली के कहने पर किया।

द ग्रेट वाॅल के बारे में यह बात बहुत कम लोग जानते हैं कि इतने शांत दिखने वाले द्रविड़ को हार बिल्कुल भी पसंद नहीं थी और एक बार हार जाने के बाद वहां पड़ी कुर्सियों को उठाकर फेंक दिया।
द्रविड़ की सबसे अहम खासियत यह थी कि वो लंबे तक क्रीज में टिके रहते थे और उनकी लम्बे समय तक बल्लेबाजी करने की उनकी क्षमता के कारण उन्हें दीवार के रूप में जाना जाता है। द्रविड़ ने क्रिकेट की दुनिया में बहुत से रिकॉर्ड बनाये हैं। द्रविड़ की छवि क्रिकेट में बहुत शांत व्यक्ति के रूप में होती है।

सभी दस देशों के खिलाफ जड़ा शतक

सुनील गावस्कर और सचिन तेंदुलकर के बाद वे तीसरे ऐसे बल्लेबाज हैं जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट में दस हजार से अधिक रन बनाये हैं। 14 फरवरी 2007 को, वे दुनिया के क्रिकेट इतिहास में छठे और भारत में सचिन तेंडुलकर और सौरव गांगुली के बाद तीसरे खिलाड़ी बन गए जब उन्होंने एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में दस हजार रन का स्कोर बनाया। वे पहले और एकमात्र बल्लेबाज हैं जिन्होंने सभी 10 टेस्ट खेलने वाले राष्ट्र के विरुद्ध शतक बनाया है। 182 से अधिक कैच के साथ वर्तमान में टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा कैच का रिकॉर्ड द्रविड़ के नाम है।

इसके अलावा राहुल द्रविड़ ने 18 अलग-अलग भागीदारों के साथ 75 बार शतकीय साझेदारी की है, यह एक विश्व रिकॉर्ड है। राहुल द्रविड़ की शादी नागपुर की एक सर्जन डाॅक्टर विजेता पेंधारकर से हुआ। उनके दो बेटे भी है। द्रविड़ को 2004 में आईसीसी का साल का सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर और साल का सर्वश्रेष्ठ टेस्ट क्रिकेटर भी चुना गया था। 2018 में उन्हें आईसीसी हॉल ऑफ फेम में शामिल किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here