Home Sports इस भारतीय खिलाड़ी को कोरोना के चलते होगा फायदा

इस भारतीय खिलाड़ी को कोरोना के चलते होगा फायदा

46
0

द एंगल।

नई दिल्ली।

कोरोना वायरस के चलते वैश्विक दबाव के बाद आखिरकार टोक्यो ओलंपिक-2020 को 1 साल के लिए टाल दिया गया है। अब इसका आयोजन अगले साल 2021 में किया जाएगा। बता दें कई भारतीय खिलाड़ी विदेशी कोचों के साथ अपनी ट्रेनिंग ले रहे हैं। इन विदेशी कोचों का कॉन्ट्रेक्ट टोक्यो ओलंपिक तक था। लेकिन अब जबकि टोक्यो ओलंपिक एक साल के लिए स्थगित कर दिए गए हैं, ऐसी स्थिति में इन कोचों का कॉन्ट्रेक्ट आगे बढ़ाया जाएगा। जिन कोचों का कॉन्ट्रेक्ट आगे बढ़ाया जाएगा उनमें महिला कुश्ती कोच एंड्रयू कुक, पिस्टल शूटिंग कोच पावेल स्मिरनोव, मुक्केबाजी कोच सैंटियागो निएवा और राफेल बर्गमास्को के साथ ही एथलेटिक्स हाई-परफॉर्मेस डायरेक्टर वोल्कर हेरमन शामिल हैं। इसे लेकर सभी खेल फेडरेशन साई (Sporte Athourity of India- SAI) से बात कर रहे हैं।

ओलंपिक स्थगित होने से जापान पर पड़ेगा 20 हजार करोड़ रुपए का अतिरिक्त भार

कोरोना वायरस के कारण 2020 टोक्यो ओलंपिक को एक साल के लिए टाल दिया गया है। गेम्स के एक साल टलने के कारण अब जापान को अतिरिक्त 20 हजार करोड़ रुपए खर्च करने होंगे। इसमें ओलंपिक के लिए बने वेन्यू, होटल बुकिंग, स्टाफ खर्च सहित अन्य खर्चे शामिल हैं। आयोजकों की ओर से अब तक लगभग 76 हजार करोड़ रुपए खर्च किए जा चुके हैं।

नरसिंह का बैन जुलाई में खत्म होगा

ओलंपिक आयोजन के लिए अतिरिक्त खर्च ने जहां जापान की चिंता बढ़ा दी हैं, वहीं यह फैसला रेसलर नरसिंह यादव के लिए एक बेहतरीन अवसर साबित हो सकता है। दरअसल बैन का सामना कर रहे नरसिंह यादव से 4 साल का यह प्रतिबंध जुलाई 2020 में खत्म हो रहा है। ऐसे में टोक्यो ओलंपिक के 1 साल के लिए टलने के बाद अब उन्हें भी अपनी दावेदारी पेश करने का एक मौका मिल सकता है। वे क्वालिफाइंग इवेंट के ज़रिए ओलंपिक कोटा हासिल कर सकते हैं। इस बारे में जानकारी देते हुए रेसलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया के सहायक सचिव विनोद तोमर ने कहा कि बैन खत्म होने के बाद वे वापसी कर सकते हैं।

नरसिंह यादव पर कैस ने लगाया था 4 साल का प्रतिबंध

उल्लेखनीय है कि खेल मध्यस्थता अदालत (कैस) ने भारतीय पहलवान नरसिंह यादव पर डोपिंग मामले में चार साल का प्रतिबंध लगा दिया था। इससे नरसिंह यादव 2016 के रियो ओलंपिक खेलों में भी भाग नहीं ले सके थे। इससे पहले नरसिंह को डोपिंग मामले में राष्ट्रीय डोपिंग रोधी एजेंसी (नाडा) की ओर से क्लीन चिट मिलने के फैसले को विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी (वाडा) ने कैस में चुनौती दी थी। जहां उन्हें डोपिंग का दोषी ठहराते हुए 4 साल का प्रतिबंध लगाया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here