Home International Fitness मीठा खाने में महिलाएं आगे

मीठा खाने में महिलाएं आगे

28
0

The Angle

जयपुर।

हममें से ज्यादातर लोग इस बात को जानते हैं कि ज्यादा चीनी या मीठा खाने से सेहत पर बुरा असर पड़ सकता है, फिर भी हम में से बहुत ही कम लोग ऐसे हैं जो खुद को मीठे से दूर रख पाते हैं। फल, सब्जी, डेयरी प्रॉडक्ट्स जैसे कुछ खाद्य पदार्थ हैं जो हमारे डेली डाइट में शामिल होते हैं और जिनमें नेचुरल शुगर मौजूद रहती है। लेकिन इसके साथ-साथ हम सब डेजर्ट यानी मिठाई, मीठे पेय पदार्थ जैसी चीजों लेकर अपनी डाइट में ऐडेड शुगर की मात्रा भी काफी बढ़ा लेते हैं।

 

मीठा कम खाते हैं भारतीय

भारतीयों की चीनी यानी शुगर खासकर ऐडेड शुगर के सेवन की आदत कैसी है ये तो हम सभी जानते हैं। ऐसे में आप सोच रहे होंगे कि सर्वे के नतीजों में हम भारतीय काफी आगे ही आएंगे। लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं है। भारतीयों की मीठा खाने की आदतों को जानने के लिए इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (Indian Council of Medical Research- ICMR) और नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ न्यूट्रीशन (National Institute of Nutrition- NIN) हैदराबाद ने देश के 7 प्रमुख मेट्रो शहरों में एक सर्वे किया। सर्वे के नतीजे बताते हैं कि सभी 7 महानगरों में चीनी का औसत उपभोग 19.5 ग्राम प्रतिदिन है, जो ICMR द्वारा तय किए गए मानक 30 ग्राम प्रतिदिन से काफी कम है।

 

महिलाएं शुगर इनटेक के मामले में पुरुषों से आगे

सर्वे के नतीजों के मुताबिक पुरुष जहां रोजाना 18.7 ग्राम चीनी का सेवन करते हैं तो वहीं महिलाओं में इसकी मात्रा 20.2 ग्राम है। हालांकि दोनों ही ICMR की ओर से तय किए गए डेली शुगर इनटेक से पीछे हैं। ICM ने डेली शुगर इनटेक 30 ग्राम तय किया है। इसी तरह अगर शहरों के हिसाब से देखा जाए तो मुंबई इस मामले में सबसे आगे है। एक मुंबईकर हर दिन औसतन 26.3 ग्राम शुगर का सेवन करता है। वहीं, अहमदाबाद दूसरे नंबर पर है जहां ऐडेड शुगर उपभोग करने की मात्रा 25.9 ग्राम प्रतिदिन है। इसके बाद तीसरे नंबर पर दिल्ली, चौथे नंबर पर बेंगलुरु, पांचवे नंबर पर कोलकाता, छठे नंबर पर चेन्नई और आखिर में हैदराबाद है।

 

आखिर क्या है ऐडेड शुगर?

अब सवाल ये उठता है कि आखिर ऐडेड शुगर यानी अतिरिक्त चीनी है क्या? दरअसल खाद्य पदार्थ को तैयार करने और प्रोसेसिंग के दौरान उनमें जो अलग से मिठास या शुगर सिरप मिलाया जाता है, उसे ही ऐडेड शुगर कहते हैं। मिठाई, केक-पेस्ट्री जैसे डेजर्ट्स, सोडा, एनर्जी और स्पोर्ट्स ड्रिंक जैसी चीजें खाने-पीने की ऐसी चीजें हैं, जिसमें ऐडेड शुगर की मात्रा अधिक होती है। साल 2015 में WHO की तरफ से जारी की गई गाइडलाइन्स के मुताबिक बच्चों और वयस्कों को अपने फ्री शुगर इनटेक को टोटल एनर्जी इनटेक का 10 प्रतिशत से भी कम करना चाहिए। जिसका मतलब है कि हर दिन करीब 25 ग्राम यानी 6 चम्मच से ज्यादा चीनी का सेवन नहीं करना चाहिए। इस हिसाब से देखें तो मेट्रो शहरों में रहने वाले भारतीय अपने शुगर इनटेक को कंट्रोल में रखे हुए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here