Home Entertainment योगेश त्रिपाठी ने साझा कीं अपनी मां से जुड़ी यादें

योगेश त्रिपाठी ने साझा कीं अपनी मां से जुड़ी यादें

162
0

द एंगल।

एंटरटेनमेंट डेस्क।

हम सबके जीवन में हमारी मां सबसे महत्वपूर्ण इंसान होती हैं। वे हमारे लिए हिम्मत, प्यार और उम्मीद का एक आधार होती हैं। अपनी सभी इच्छाओं और जरूरतों को परे रखकर वे हमेशा अपने बच्चे को सबसे पहले रखती हैं। उनका बच्चा जीवन में क्या चाहता है, उसे पूरा करने के लिए किसी भी हद तक चली जाती हैं। उनका प्यार और दुलार निश्छल और अतुलनीय है। वे अपनी पूरी ताकत से हमारी समझ को आगे बढ़ाते हुए हमारी जिंदगी संवारती हैं। हमें बेहतर बनाने और जीवन में हम काफी कुछ हासिल कर सकें, उसके लिए हमें सींचती हैं और हमें सिखाती हैं।

योगेश त्रिपाठी अपनी मां को देते हैं सफलता का श्रेय

‘हप्पू की उलटन पलटन’ के चहेते दरोगा हप्पू सिंह ने अपनी मां से जुड़ी बचपन की ऐसी ही दिल छू लेने वाली बातें, शेयर कीं। इस बात से सभी वाकिफ हैं कि योगेश त्रिपाठी ने हमेशा ही अपनी सफलता का श्रेय अपनी मां को दिया है। उनका मानना है कि उनकी मां का उन पर विश्वास और भरोसा ही है जिसकी बदौलत वे आज इस मुकाम तक पहुंचने में कामयाब रहे हैं।

मां के बनाए स्वेटर की बात याद कर नम हो गईं योगेश त्रिपाठी की आंखें

अपनी मां से जुड़ी यादों को जीवंत करते हुए उन्होंने अपने एक बेहद खास चमकीले पीले स्वेटर के बारे में बात की। यह एक ऐसी चीज है जो कि योगेश को अपनी मां के साथ गहरे रिश्ते को जोड़ती है। योगेश ने बताया कि उनका यह स्वेटर उनकी मां ने अपने अंतिम दिनों में बनाया था और इसीलिए उन्होंने आज तक भी उस स्वेटर को अपने पास संभाल कर रखा हुआ है।

मां के बनाए पीले स्वेटर को पहने योगेश त्रिपाठी

मेरे बचपन की यादों में पीले स्वेटर का खास महत्व- योगेश त्रिपाठी

पीले स्वेटर की बात आते ही अपनी मां की यादों में खो जाने वाले योगेश त्रिपाठी नम आंखों से कहते हैं, “वे कैंसर से जूझ रही थीं, लेकिन उन्होंने मेरे लिए एक स्वेटर बुनने की जिद की और वह भी पीले रंग का, क्योंकि वे इस बात को अच्छी तरह जानती थीं कि यह मेरा फेवरेट रंग है। यह स्वेटर मेरे लिए बेहद खास है और जब भी मैं किसी ठंडे इलाके में जाता हूं अपने साथ लेकर जाता हूं। उनकी तरफ से मेरे लिए यह आखिरी तोहफा था।

बचपन की यादों में इसका खास महत्व है। छुपकर गोविंदा की फिल्में देखने जाने से लेकर, ऑरेंज कैंडी और थिएटर के दिनों की यादों में। अब मैं जब भी इस स्वेटर को हाथ में लेता हूं तो मुझे ऐसा लगता है कि वे मेरे साथ हैं और मुझे देख रही हैं। यह पीला स्वेटर सबसे कीमती तोहफा है और इसे मैं हमेशा संभालकर अपने पास रखूंगा।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here