Home Politics जयपुर पहुंचे भाजपा के तीनों पर्यवेक्षक, राजनाथ सिंह के साथ वसुंधरा राजे...

जयपुर पहुंचे भाजपा के तीनों पर्यवेक्षक, राजनाथ सिंह के साथ वसुंधरा राजे की गुप्त मंत्रणा जारी

53
0
जयपुर पहुंचे भाजपा के तीनों पर्यवेक्षक, राजनाथ सिंह के साथ वसुंधरा राजे की गुप्त मंत्रणा जारी

The Angle

जयपुर।

राजस्थान में बीजेपी विधायक दल की बैठक बुलाई गई है। इसके लिए केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह सहित पार्टी के तीनों पर्यवेक्षक जयपुर पहुंच गए हैं। सीपी जोशी ने साफा पहनाकर जयपुर एयरपोर्ट पर राजनाथ सिंह का स्वागत किया। इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सहित अन्य पार्टी नेता भी मौजूद रहे। वहीं इसके बाद तीनों प्रभारी और भाजपा नेता एक निजी होटल के लिए रवाना हो गए। वहीं अब बताया जा रहा है कि होटल में राजनाथ सिंह से वसुंधरा राजे गुप्त मंत्रणा कर रही हैं। भाजपा विधायक दल की बैठक से पहले हो रही इस मंत्रणा को काफी अहम माना जा रहा है।

उधर शाम करीब 4 बजे होने वाली भाजपा विधायक दल की बैठक के लिए अब तक 115 में से करीब 108 विधायक पार्टी प्रदेश मुख्यालय पहुंच गए हैं। यहां फिलहाल विधायक अपना रजिस्ट्रेशन करवा रहे हैं और दोपहर भोजन ले रहे हैं। इसके बाद करीब 4 बजे बैठक शुरू होने की संभावना है।

राजस्थान में सामान्य वर्ग से मिल सकता है किसी चेहरे को मौका

वहीं राजस्थान में अगला सीएम कौन होगा इसे लेकर कयासों का दौर लगातार जारी है। भाजपा ने मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में पुराने कद्दावर नेताओं को किनारे लगाते हुए संघ की पृष्ठभूमि से जुड़े नेताओं को मुखिया बनाया है। ऐसे में राजस्थान में चर्चा है कि यहां भी ऐसे ही किसी नेता को प्रदेश का मुखिया बनने का सौभाग्य प्राप्त हो सकता है। वहीं मध्यप्रदेश में पार्टी ने ओबीसी और छत्तीसगढ़ में आदिवासी चेहरों को मौका दिया है। ऐसे में संभावनाएं जताई जा रही हैं कि राजस्थान में किसी सामान्य वर्ग से आने वाले नेता पर दांव खेला जा सकता है।

भाजपा ने निर्दलीय विधायकों को भी जयपुर में ही रहने के दिए निर्देश

खास बात यह है कि पहले भाजपा विधायक दल की बैठक में निर्दलीय विधायकों को भी बुलाने की चर्चा थी। लेकिन अब बताया जा रहा है कि पार्टी की तरफ से किसी भी निर्दलीय विधायक को नहीं बुलाया गया है। इसकी बजाय पार्टी राज्यपाल के सामने सरकार बनाने का दावा पेश करने के समय ही निर्दलीय विधायकों का समर्थन पत्र सौंप सकती है। ऐसी अटकलें इसलिए भी हैं क्योंकि पार्टी ने जिन भी निर्दलीय विधायकों से संपर्क साधा है, उन्हें जयपुर में ही रहने के निर्देश दिए गए हैं। इसलिए माना जा रहा है कि पार्टी राज्यपाल को 120 से ज्यादा विधायकों के समर्थन का पत्र सौंप सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here