Home Politics उपचुनाव जीतकर कांग्रेस से हिसाब बराबर करने की तैयारी में भाजपा, मुख्यमंत्री...

उपचुनाव जीतकर कांग्रेस से हिसाब बराबर करने की तैयारी में भाजपा, मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा का नया दांव

49
0
उपचुनाव जीतकर कांग्रेस से हिसाब बराबर करने की तैयारी में भाजपा, मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा का नया दांव

The Angle

जयपुर।

मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा की अगुवाई वाली प्रदेश की भाजपा सरकार रीट सहित विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में पेपर लीक के मुद्दे पर कांग्रेस को घेरकर सत्ता में आई थी और कांग्रेस को युवा विरोधी पार्टी दर्शाने में कामयाब रही थी। लेकिन लोकसभा चुनाव खत्म होने के बाद नीट यूजी सहित यूजीसी नेट परीक्षा का भी पेपर लीक होने की खबरों ने भाजपा की पूरी मेहनत पर पानी फेर दिया है।

पूर्ववर्ती सरकार में पीएम मोदी ने भी दिए थे जॉइनिंग लेटर

उधर पिछले दिनों मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा ने रीट लेवल 1 में महिला अभ्यर्थियों को 50 फीसदी आरक्षण देने का ऐलान किया, जिसका पुरुष युवा खुलकर विरोध कर रहे हैं। ऐसे में युवाओं में बढ़ती इस नाराजगी को खत्म करने के लिए भजनलाल सरकार ने एक बड़ा दांव चला है। दरअसल पूर्ववर्ती केंद्र सरकार में पीएम मोदी विभिन्न सरकारी भर्तियों के नियुक्ति पत्र चयनित अभ्यर्थियों को सौंपा करते थे। इससे सरकार देशभर के युवाओं के बीच ये मैसेज देने में कामयाब रही कि मोदी सरकार में युवाओं के लिए जमकर नौकरी दी जा रही है और यह प्रयोग हालिया लोकसभा चुनाव में काफी हद तक कारगर भी रहा।

मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा ने रोजगार उत्सव में अभ्यर्थियों को दिए जॉइनिंग लेटर

इसी नक्श-ए-कदम पर चलते हुए अब मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा ने भी रोजगार उत्सव के तहत करीब 7 हजार अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र सौंपे। मुख्य समारोह जयपुर में आयोजित हुआ। जानकारों का मानना है कि आगामी उपचुनावों को देखते हुए भजनलाल सरकार नीट पेपर लीक मामले से हुए डैमेज को कंट्रोल करने में जुट गई है। वहीं इसी बहाने सरकार केंद्र और राज्य सरकार के फैसलों का भी जमकर प्रचार-प्रसार करेगी, ताकि उपचुनाव में ज्यादा से ज्यादा सीटें हासिल कर कांग्रेस से लोकसभा चुनाव में मिली हार का हिसाब बराबर किया जा सके। साथ ही राजस्थान विधानसभा में भी पार्टी की स्थिति और ज्यादा मजबूत हो सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here