Home Politics रोजगार उत्सव, नए जिलों से लेकर कई मुद्दों पर पीसीसी चीफ गोविंद...

रोजगार उत्सव, नए जिलों से लेकर कई मुद्दों पर पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा का बड़ा बयान

42
0
रोजगार उत्सव, नए जिलों से लेकर कई मुद्दों पर पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा का बड़ा बयान

The Angle

जयपुर।

राजस्थान की भजनलाल सरकार में आज आयोजित किए गए पहले रोजगार उत्सव और सरकार की नीति-रीति पर कांग्रेस ने तीखा हमला बोला है। राजस्थान कांग्रेस पीसीसी अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने सरकार द्वारा आयोजित रोजगार मेले पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि इन्होंने रोजगार मेला लगाया, वे यह तो बता दें कि कितनी भर्ती निकाली, कितनी नौकरी दी, कितनों को भत्ता दिया। ये नियुक्ति का ढोल बजा रहे हैं, ये सभी कांग्रेस के शासनकाल में भर्ती निकली, परीक्षा हुई और परिणाम आया। कुछ लोगों की ज्वाइनिंग नहीं हुई थी, उन्हें पत्र देकर आज अपनी पीठ थपथपा रहे हैं। इन्हें पहले ही नियुक्ति देनी चाहिए थी। लेकिन अधिकारी-नेताओं में सामंजस्य नहीं था, इसलिए कर नहीं पाए।

डोटासरा बोले- नए जिलों को खत्म करना इनके बस में नहीं

वहीं पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार के समय बनाए गए नए जिलों और संभागों की समीक्षा के लिए भजनलाल सरकार ने कल ही पूर्व आईएएस ललित के. पवार की अध्यक्षता में एक कमेटी गठित की है। इसे लेकर डोटासरा ने कहा कि जहां कलेक्टर और एसपी बैठ गया है, वहां क्या ये जिले खत्म कर देंगे। तहसील इधर से उधर कर सकते हैं, जिले खत्म करना इनके बस में नहीं है। साथ ही एकल पट्टा में जांच कमेटी गठित करने के सरकार के फैसले पर डोटासरा ने कहा कि एकल पट्टा में यह सुप्रीम कोर्ट में कह चुके हैं कि इस मामले में कुछ नहीं है, अब ये क्या जांच करेंगे।

विधानसभा में सरकार को घेरेगी कांग्रेस

इसके साथ ही कांग्रेस अध्यक्ष डोटासरा ने विधानसभा सत्र से पहले अपने तेवर स्पष्ट कर दिए। उन्होंने कहा कि 3 से राजस्थान का बजट सत्र शुरू हो रहा है। यह कैसा होगा, इनका अब तक का कार्यकाल बता रहा है। अब तक ये योजना की जांच करेंगे, नाम बदलेंगे, जेल भेजेंगे, दिल्ली की हाजिरी, इसी में दिन बीते हैं। मदन दिलावर के बयान पर हम विधानसभा में सरकार को घेरेंगे। उन्होंने कहा कि हमको तो ऐसा मान लिया कि हम अफगानिस्तानी हैं। हम राजस्थान में सवाल नहीं पूछ सकते। सीएम और कोई भी मंत्री जवाब नहीं दे रहा। अगर कोई सवाल उठाता है तो सरकार के नुमाइंदे को जवाब देना चाहिए ताकि जनता में स्पष्टता रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here