Home Politics सीएम अशोक गहलोत ने की सांगोद विधायक भरतसिंह से मुलाकात, ग्रीन फील्ड...

सीएम अशोक गहलोत ने की सांगोद विधायक भरतसिंह से मुलाकात, ग्रीन फील्ड एयरपोर्ट की लोकेशन का भी लिया जायजा

66
0
अशोक गहलोत (फाइल फोटो)

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के आज कोटा दौरे का दूसरा दिन था. सीएम ने आज अचानक अपनी ही सरकार के खिलाफ आवाज  उठाने वाले कांग्रेस विधायक भरतसिंह कुंदनपुर से अचानक उनके आवास पर पहुंचकर मुलाकात की. वहीं इससे पहले कल ही भरतसिंह सीएम से मिलने कोटा में सर्किट हाउस में पहुंचे थे. आज सीएम के द्वारा मुलाकात करने पर राजनीति गलियारों में कई चर्चाएं शुरु हो गई है. आपको बता दे आज दोनों में ही गुप्त बातचीत हुई और विधायक की नाराजगी भी शायद इस मुलाकात के बाद सीएम ने दूर कर दी.

गहलोत पहुंचे कोटा ग्रीन फील्ड एयरपोर्ट

सीएम ने कांग्रेस विधायक से मुलाकात करने के बाद कोटा में ग्रीन फील्ड एयरपोर्ट की लोकेशन देखने पहुंचे .आपको बता दे ये नया ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट कोटा-बूंदी के बीच शंभूपुरा-जाखमुंड गांवों में प्रस्तावित हैं .सीएम ने यहा पहुंचकर प्रस्तावित एयरपोर्ट की जमीन को देखा.इस दौरान उनके साथ यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल,विधायक भरत सिंह,जिला कलेक्टर ओपी बुनकर समेत यूआईटी के अधिकारी भी मौजूद रहे .यहां सीएम ने अधिकारियों से एयरपोर्ट की जमीन को लेकर आ रही अड़चनों पर अधिकारियों से विस्तार से चर्चा की

गहलोत ने लोकसभा अध्यक्ष पर उठाए सवाल

इस दौरान सीएम ने मीडिया से बातचीत के दौरान लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला पर भी सवाल उठाए.उन्होने कहा कि लोकसभा अध्यक्ष का पद बहुत बड़ा होता है .और लोकसभा अध्यक्ष यहां से सांसद भी है .इतने बड़े पद पर बैठे हुए सांसद ओम बिरला के लिए यह मामूली बात है .सीएम ने कहा लोकसभा स्पीकर किसे कहते है,इतने बडे पद पर बैठे हुए हैं उनके लिए मामूली बात है। समझ नही आ रहा चार साल क्यों निकाल दिए उन्होंने, मेरी बात भी हुई थी, मैं वापस बात करूंगा।

हम बनाएंगे एयरपोर्ट-सीएम

आपको बता दे अब 106.34 करोड़ रुपए की वजह से एयरपोर्ट का मामला अटका हुआ है। यह राशि वन विभाग को डायवर्जन शुल्क, प्रोजेक्ट कॉस्ट के दो प्रतिशत और पावर ग्रिड की लाइनों की शिफ्टिंग की एवज में अदा करनी है। राज्य का कहना है कि यह राशि केन्द्र वहन करे जबकि केन्द्र का कहना है कि राशि राज्य सरकार को वहन करनी होगी। सीएम ने कहा कि केन्द्र नई नई शर्तें लगा रहा, अगर उनसे नहीं हो रहा तो हाथ खड़े कर दें, हम बना देंगे, भले ही छोटा बनाएं, बड़ा बनाऐं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here