Home Politics हेरिटेज मेयर मुनेश गुर्जर को सरकार ने फिर किया सस्पेंड,जांच में पाया...

हेरिटेज मेयर मुनेश गुर्जर को सरकार ने फिर किया सस्पेंड,जांच में पाया गया दोषी

81
0
मुनेश गुर्जर (फाइल फोटो)

राजस्थान सरकार ने जयपुर नगर निगम हेरिटेज मेयर मुनेश गुर्जर को दोनों ही पदों से सस्पेंड कर दिया है .सरकार ने मुनेश गुर्जर को मेयर और पार्षद दोनों ही पदों से बर्खास्त किया है .दरअसल मुनेश गुर्जर को प्रशासनिक जांच में दोषी पाया गया है .उन पर पद के दुरुपयोग करने का आरोप सिद्ध हुआ है .इसी में दोषी में पाए जाने के कारण स्वायत्त शासन विभाग ने मुनेश को सस्पेंड करने के आदेश कल रात को जारी किया गया है .

मेयर पाई गई  दोषी

मुनेश गुर्जर के पति सुशील गुर्जर को एसीबी ने ट्रैप किया था.और मेयर के घर पर से 40 लाख रुपए नकद और नगर निगम के पट्टे बरामद हुए थे.इस संदर्भ में मुनेश गुर्जर के पति को गिरफ्तार किया गया था.वही इस पूरे मामले में मेयर की संलिप्तता भी सामने आई थी और मुनेश गुर्जर को मामले में दोषी और जिम्मेदार बताया गया था.और मामले में डीएलबी को जांच के आदेश दिए गए थे.और जब जांच की गई तो मुनेश  गुर्जर इसमे दोषी पाई गई थी.

मेयर के बेटे ने लगाए थे आरोप

वही मेयर मुनेश गुर्जर और मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास के बीच विवाद में अब 14 साल के बच्चे की एंट्री हो गई थी। मेयर मुनेश गुर्जर के बेटे दक्ष गुर्जर ने शुक्रवार को एक बयान जारी करके अपने माता-पिता को फंसाने के लिए मंत्री प्रताप सिंह को जिम्मेदार बताया है। दक्ष ने कहा- मैं इस मुद्दे पर इतना दुखी था कि सुसाइड करने जा रहा था। इसके साथ ही दक्ष ने कहा- हमें डर लगता है। हमें सुरक्षा की जरूरत है।

सरकार ने पहले भी किया था सस्पेंड


मुनेश गुर्जर को सरकार ने दूसरी बार सस्पेंड किया है। मेयर पति सुशील गुर्जर के ट्रैप होने के कुछ दिन बाद ही मुनेश को सस्पेंड कर दिया था। मुनेश ने इसे हाईकोर्ट में चुनौती दी थी। हाईकोर्ट ने 23 अगस्त को मुनेश के निलंबन पर रोक लगा दी थी। हाईकोर्ट ने प्राथमिक जांच किए बिना ही सस्पेंड करने को गलत ठहराते हुए ​राहत दी थी। अब सरकार ने प्राथमिक जांच में दोषी पाए जाने का हवाला देकर मुनेश को मेयर और पार्षद दोनों पदों से सस्पेंड किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here