Home Arts अब प्रदेश के प्रसिद्ध मेलों में जाना जेब पर नहीं पड़ेगा भारी,...

अब प्रदेश के प्रसिद्ध मेलों में जाना जेब पर नहीं पड़ेगा भारी, रोडवेज बसों के किराए में मिली 50 परसेंट की छूट

124
0
अब प्रदेश के प्रसिद्ध मेलों में जाना जेब पर नहीं पड़ेगा भारी, रोडवेज बसों के किराए में मिली 50 परसेंट की छूट

The Angle

जयपुर।

भाजपा जहां हिंदुत्व के मुद्दे को प्रो-एक्टिव होकर भुनाने में जुटी है, वहीं कांग्रेस भी सॉफ्ट हिंदुत्व की तरफ निरंतर अपने कदम आगे बढ़ रही है। अब सरकार प्रदेश के कई लोक मेलों में जाने वाले यात्रियों को रोडवेज बसों के किराए में 50 फीसदी की छूट देगी। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बजट भाषण में इसकी घोषणा की थी।

राज्य सरकार यात्रों को रोडवेज बसों के किराए में देगी 50 फीसदी की छूट

जानकारी के मुताबिक चूरू का सालासर बालाजी मेला, हनुमानगढ़ का गोगामेड़ी मेला, डूंगरपुर का बेणेश्वर मेला, सवाई माधोपुर का गणेश मेला, टोंक का डिग्गी कल्याण जी मेला, अलवर का भृतहरि और पांडुपोल मंदिर मेला, श्रीगंगानगर का जोहड़ गुरुद्वारा मेला, बीकानेर का मुकाम मेला, चित्तौड़गढ़ के सांवलिया सेठ मंदिर मेला, अजमेर का पुष्कर मेला, करौली के कैलादेवी मेला, भरतपुर में झील का बाड़ा मेला, जैसलमेर का रामदेवरा मेला, अजमेर का उर्स मेला और सीकर के खाटूश्याम मेले में आने वाले यात्रियों को ये छूट राज्य सरकार की ओर से रोडवेज बस के किराए में दी जाएगी।

मेले लोगों के बीच हैं खासे लोकप्रिय, देश-दुनिया के कोने-कोने से आते हैं श्रद्धालु

बता दें प्रदेश के ये मेले राज्य की जनता के बीच खासे लोकप्रिय हैं। यही वजह है कि इन मेलों में हर साल हजारों से लाखों और करोड़ों की संख्या में देश और दुनिया के कोने-कोने से यहां आते हैं और भगवान से अपने और अपने परिजनों की खुशहाली की कामना करते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here