Home National पवन खेड़ा का बड़ा दावा- भाजपा के पास नहीं गहलोत सरकार की...

पवन खेड़ा का बड़ा दावा- भाजपा के पास नहीं गहलोत सरकार की परफॉर्मेंस का कोई तोड़

130
0
पवन खेड़ा का बड़ा दावा- भाजपा के पास नहीं गहलोत सरकार की परफॉर्मेंस का कोई तोड़

The Angle

जयपुर।

कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता पवन खेड़ा जयपुर पीसीसी कार्यालय में मीडिया से रूबरू हुए। इस दौरान उन्होंने राजस्थान सरकार के 5 साल की उपलब्धियां गिनाते हुए भाजपा को विभिन्न मुद्दों पर निशाने पर लिया। कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि प्रदेश की अशोक गहलोत सरकार ने अपनी योजनाओं के जरिए हर वर्ग को छुआ है। उन्होंने भाजपा को चुनौती देते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी अपनी सरकार का बही-खाता सामने रखने को तैयार है, भाजपा भी इस चुनौती को स्वीकार करे।

पवन खेड़ा बोले- संघ के एक व्यक्ति ने मुझे कहा कि राजस्थान में इस बार रिवाज बदलेगा

उन्होंने कहा कि ये हमारी पार्टी और सरकार की उपलब्धि है कि सरकार का दिल प्रदेश के हर वर्ग, हर व्यक्ति के लिए धड़कता है। पूरी विनम्रता के साथ हमारी सरकार ने काम किया है। उन्होंने एक वाकया सुनाते हुए कहा कि जब आज मैं दिल्ली से आ रहा था तो एयरपोर्ट पर एक सज्जन ने मुझसे कहा कि मैं संघ से हूं। लेकिन कहना चाहता हूं कि राजस्थान में इस बार रिवाज बदलेगा। उन्होंने कहा कि हमारे पास राजस्थान सरकार की परफॉर्मेंस का कोई जवाब नहीं है। पवन खेड़ा बोले कि मेरा साफ कहना है कि मतदान वाले दिन आप देखेंगे कि संघ की शाखा में जाने वाला व्यक्ति भी कांग्रेस को वोट देता हुआ नजर आएगा।

गहलोत सरकार की नीयत स्पष्ट और अपने वादों को पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध- पवन खेड़ा

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि गहलोत सरकार ने जनता को महंगाई से राहत दी। सरकार ने सभी वर्गों का ध्यान रखकर योजनाएं बनाईं। गहलोत सरकार की नीयत स्पष्ट है और गहलोत सरकार अपने वादों को पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध है। लेकिन बीजेपी सरकार ने महंगाई कम करने को लेकर कोई काम नहीं किया, बीजेपी सरकार में खुद में ही लड़ाई हो रही है।

जहां विपक्ष कमजोर होता है वहां हमारे ही लोग निभा रहे विपक्ष की भूमिका- कांग्रेस प्रवक्ता

पवन खेड़ा ने डीएमके नेता उदयनिधि मारन के सनातन धर्म को लेकर दिए बयान पर भी अपनी बात रखी। उन्होंने कहा कि संघ प्रमुख मोहन भागवत ने हाल ही में 2 हजार साल से चली आ रही सामाजिक त्रुटियों की बात कही। उन्होंने धर्म की कमियों पर बात की। यही बात तो डीएमके ने कही, उन्होंने भी सामाजिक विषमताओं को दूर करने की बात कही। वहीं भारत और इंडिया विवाद पर कहा कि भारत इंडिया शब्दावली अलग हैं, लेकिन दोनों का मतलब एक ही है, इसके बावजूद बेवजह विवाद खड़ा किया जा रहा है। इसी तरह मंत्री अशोक चांदना के धरने और विधायक भरतसिंह कुंदनपुर के मुद्दे पर कहा कि जहां विपक्ष होता है वहां हमारे ही लोग विपक्ष की भूमिका निभाते हैं, इससे ब्यूरोक्रेसी दबाव में रहती है।

https://www.youtube.com/watch?v=mdBK1yJHPNg

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here