Home Politics छात्र संघ चुनाव को रद्द करने के मामले को लेकर पूर्व शिक्षा...

छात्र संघ चुनाव को रद्द करने के मामले को लेकर पूर्व शिक्षा मंत्री वासुदेव देवनानी ने बोला गहलोत सरकार पर हमला !

67
0
वासुदेव देवनानी (फाइल फोटो)

पूर्व शिक्षा मंत्री और अजमेर उत्तर विधायक वासुदेव देवनानी ने राज्य सरकार की ओर से छात्रसंघ चुनावों को रद्द करने के मामले पर सरकार को आड़े हाथों लिया। देवनानी ने कहा कि सरकार साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनाव में अपनी हार के संभावित नतीजों से मायूस होकर छात्रों के लोकतांत्रिक अधिकारों का हनन कर अपनी खीज उतार रही है।

देवनानी ने कहा कि लोकतांत्रिक अधिकारों का हनन

पूर्व शिक्षा मंत्री ने कहा कि प्रदेश में छात्र संघ चुनाव शांतिपूर्ण रूप से होते आए हैं और इनके जरिए छात्र अपने हितों और मुद्दों को लेकर प्रतिनिधि का चुनाव करते हैं ऐसे में चुनाव रद्द करने के पीछे क्या कारण रहे सरकार उसको सार्वजनिक करें। देवनानी ने कहा की छात्र संघ चुनाव कराने की मांग को लेकर प्रदेश भर में छात्र शक्ति आंदोलन कर रही है लेकिन सरकार पर उसका कोई असर नहीं पड़ रहा। उल्टा अपने अधिकारों की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे छात्रवृत्ति पर सरकार पुलिस का सहारा लेकर डंडों से पिटवा रही है।

देवनानी ने कहा-सरकार घबरा गई है

छात्र संघ चुनाव करवाने के लिए तमाम छात्र संगठन एक जाजम पर आ चुके हैं जिसमें कांग्रेस समर्थित विचारधारा के छात्र संगठन भी शामिल है।देवनानी ने कहा कि ये चुनाव राजनीति का पहला पायदान है .और यही से छात्र राजनीति में भी अपना भविष्य तय करते है .छात्रसंघ चुनाव सरकार के लिए लिटमस टेस्ट के रुप में है .और इसलिए ही सरकार पूरी तरह से घबराई हुई है .क्योंकि पेपर लीक की घटनाओं से युवाओं का गहलोत सरकार से मन उठ चुका है.

बेनीवाल ने भी दिया आंदोलन को समर्थन

आपको बता दे छात्र संघ चुनाव करवाने की मांग को लेकर लगातार राजस्थान विश्वविद्यालय में आंदोलन जारी है .कल भी पुलिस और छात्रों के बीच झड़प हो गई थी जिसमें 3 छात्रो को चोटें भी आई थी.वही आज आरएलपी सांसद हनुमान बेनीवाल राजस्थान विश्वविद्यालय पहुंचे थे.और छात्रों के आंदोलन को समर्थन दिया था.वही आज बेनीवाल ने भूख हड़ताल पर बैठे छात्रों को ज्यूस पिलाकर भूख हड़ताल भी खत्म करवाई

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here