Home Politics अमित शाह ने किया राजस्थान में सांप्रदायिक सौहार्द्र बिगाड़ने का प्रयास, केंद्रीय...

अमित शाह ने किया राजस्थान में सांप्रदायिक सौहार्द्र बिगाड़ने का प्रयास, केंद्रीय मंत्री का लाल डायरी का शिगूफा राजस्थान में करेगा भाजपा का सूपड़ा साफ- लोकेश शर्मा

321
0
लोकेश शर्मा (फाइल फोटो)

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के विशेषाधिकारी और प्रदेश कांग्रेस सेंट्रल वॉर रूम के को-चेयरमैन लोकेश शर्मा ने केंद्रीय मंत्री अमित शाह पर आरोप लगाया कि अमित शाह राजस्थान का सांप्रदायिक सौहार्द्र बिगाड़ने का काम कर रहे हैं। अमित शाह राजस्थान आकर मुद्दाविहीन राजनीति को बढ़ावा दे रहे हैं। अमित शाह के राजस्थान दौरे पर सवाल उठाते हुए लोकेश शर्मा ने कहा कि शाह राजस्थान आकर गहलोत सरकार की ओपीएस, चिरंजीवी, मुफ्त फूड पैकेट जैसी योजनाओं पर बोलने से कतराए। इसकी बजाय उन्होंने केंद्र सरकार की थोथी घोषणाओं की वाहवाही लूटने की कोशिश की।

गहलोत के ओएसडी का अमित शाह पर हमला

लोकेश शर्मा ने बयान जारी कर कहा कि अमित शाह ने अपने भाषण में राजस्थान से 25 सांसद होने का उल्लेख तो किया, लेकिन वे ये बताना भूल गए कि 25 सांसद होने के बावजूद राजस्थान की जनता को क्यों ईआरसीपी से वंचित रहना पड़ा। अमित शाह ने राजस्थान की कांग्रेस सरकार से पैसों का हिसाब मांगा, लेकिन वे खुद ये बताना भूल गए कि क्यों केंद्र सरकार ने राजस्थान सरकार के जीएसटी फंड के 76 हजार करोड़ रुपए अभी तक रोककर रखे हुए हैं। लोकेश शर्मा ने कहा कि अमित शाह ये बताना क्यों भूल गए कि पूर्ववर्ती वसुंधरा राजे सरकार के समय गुर्जरों पर गोलियां चलाई गईं। बेरोजगारों को सरकारी नौकरियों से क्यों वंचित रखा गया।

गहलोत के विशेषाधिकारी के शाह पर तीखे तंज

लोकेश शर्मा ने अमित शाह पर तीखे प्रहार करते हुए कहा कि राजस्थान में आकर अमित शाह को इस बात का आश्वासन देना चाहिए था कि केंद्र सरकार राजस्थान सरकार की ओपीएस, सामाजिक सुरक्षा जैसी योजनाओं को पूरे देश में लागू करेगी। रिफाइनरी प्रोजेक्ट को लेकर अमित शाह के बयान पर भी लोकेश शर्मा ने सवाल खड़े किए। उन्होंने कहा कि राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार केंद्र की भाजपा सरकार से लड़कर इस प्रोजेक्ट को पूरा करने में जी जान से जुटी हुई है। ये योजना अशोक गहलोत सरकार के पूर्ववर्ती शासन में शुरू की गई थी, जबकि अमित शाह इस योजना को मोदी सरकार की देन बता रहे हैं।

पेपर लीक के बयान पर पलटवार

लोकेश शर्मा ने केंद्रीय मंत्री शाह के प्रदेश में पेपर लीक को लेकर दिए बयान पर भी पलटवार किया। उन्होंने कहा कि केंद्रीय मंत्री इंद्रजाल कॉमिक्स पढ़कर राजस्थान न आया करें, राजस्थान के युवाओं को बरगलाने से पहले केंद्रीय गृह मंत्री को भाजपा शासित प्रदेशों का हाल भी बताना चाहिए था। पूरा देश जानता है कि पेपर लीक भाजपा शासित राज्यों में भी लगातार हो रहे हैं। यह शर्म की बात है कि इस देशव्यापी समस्या का समाधान ढूंढने की बजाय केंद्र में जिम्मेदार पदों पर बैठे लोग अपने राजनीतिक स्वार्थ साधने के लिए सिर्फ राजस्थान को टार्गेट करने में लगे हैं। लोकेश शर्मा ने यह भी कहा कि भाजपा ने राजस्थान की वीर भूमि को बदनाम करने का कुत्सित प्रयास किया, जबकि कांग्रेस ने जनता को आर्थिक संबल, स्वास्थ्य सेवाएं, बेहतरीन शिक्षा, किसान कल्याण, युवाओं के लिए अवसर से खुशहाली का नया अध्याय लिखा है। इसलिए प्रदेशवासी भाजपा पर कभी भरोसा नहीं करेंगे।

विकास की पक्की गारंटी कांग्रेस में मिल रही-लोकेश शर्मा

लोकेश शर्मा ने केंद्रीय मंत्री को उनके बयानों के लिए घेरते हुए कहा कि बीजेपी नेताओं ने सर्टिफिकेट देने का काम शुरू किया हुआ है। शाह जिस भी विपक्षी पार्टी शासित राज्य में जाते हैं, वहां की सरकार इनके मुताबिक देश की सबसे भ्रष्ट सरकार होती है। केंद्रीय मंत्री को यह भी बताना चाहिए कि अगर भाजपा शासित राज्यों में भ्रष्टाचार नहीं है, तो कर्नाटक और हिमाचल में उनकी पार्टी की सरकारों को जनता ने क्यों आउट किया ? लोकेश शर्मा ने कहा कि भाजपा नेताओं के ये जुमले अब और नहीं चलेंगे क्योंकि राजस्थान की जनता ने बीते 5 साल में कांग्रेस का सुशासन देखा है, उन्हें चहुंमुखी विकास की कांग्रेस की पक्की गारंटी मिल रही है.. इसलिए 5 राज्यों के चुनाव में भी कांग्रेस का परचम लहराने वाला है। आप कानून व्यवस्था की बातें करते भी अच्छे नहीं लगते क्योंकि मणिपुर झुलस रहा है और डबल इंजन वाले उत्तर प्रदेश की स्थिति आए दिन हम देख रहे हैं। थोड़ा अपने गिरेबान में झांकें और वास्तविकता को आंकें। लोकेश शर्मा ने कहा कि अमित शाह ने राजस्थान में थानों में दर्ज मुकदमों का आंकड़ा तो बता दिया, लेकिन वो शायद यह बात नहीं जानते कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ही राजस्थान में थानों में एफआईआर अनिवार्य की थी।

लाल डायरी में लिखा है कांग्रेस पांच राज्यों में आ रही

अमित शाह के बयान पर तंज कसते हुए लोकेश शर्मा ने कहा कि राहुल गांधी और वैभव गहलोत परिपक्व राजनेता हैं। उनके बारे में विवादित टिप्पणी करना केंद्रीय मंत्री को शोभा नहीं देता। वहीं लाल डायरी को लेकर अमित शाह के बयान पर लोकेश शर्मा ने कहा कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष खुद इस बारे में स्पष्ट कर चुके हैं कि लाल डायरी में लिखा था कि पांचों राज्यों में कांग्रेस पार्टी वापस सरकार में आ रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here