Home Politics गोविंद राम मेघवाल ने अर्जुराम मेघवाल को दे डाली ये बड़ी चुनौती,कहा-वो...

गोविंद राम मेघवाल ने अर्जुराम मेघवाल को दे डाली ये बड़ी चुनौती,कहा-वो अगला चुनाव तो हारेंगे

84
0
विधायक गोविंद राम मेघवाल (फाइल फोटो)

राजस्थान मे इसी साल के आखिर में विधानसभा चुनाव होने जा रहे है .ऐसे में नेताओं के आपसी वार-पलटवार के सिलसिले भी जारी है .बीजेपी और कांग्रेस नेता एक दूसरे पर लगातार हमलावर है .इसी बीच केंद्रीय कानून मंत्री अर्जुनराम मेघवाल पर कांग्रेस कैंपेन कमेटी के अध्यक्ष व खाजूवाला से विधायक गोविंद राम मेघवाल ने बड़ा जुबानी हमला बोला है .आपका बता दे अर्जुनराम मेघवाल लगातार केंद्रीय कानून मंत्री पर हमलावर रहते है .चाहे वो कैलाश मेघवाल के आरोपों की बात या फिर उनके राजनीतिक अतीत की ,वो लगातार कानून मंत्री पर गंभीर आरोप लगाते नजर आते है .

अर्जुनराम मेघवाल पर लगाए बड़े आरोप

केंद्रीय कानून मंत्री पर गोविंद राम मेघवाल ने आरोप लगाते हुए कहा कि वो भले ही मोदी जी के पीछे बैठकर मेज थपथपा ले,लेकिन जमीनी सच्चाई यह है कि अब वो चुनाव नहीं जीत सकते.हैं. उन्होंने कहा कि सांसद का चुनाव तो दूर की बात है, फिलहाल सिर पर विधानसभा चुनाव है और सुनने में आ रहा है कि केंद्रीय मंत्री विधानसभा चुनाव लड़ेंगे. ऐसे में उन्हें मेरी खुली चुनौती है कि वो खाजूवाला से चुनाव लड़ लें. उन्हें उनकी सियासी हैसियत का अंदाजा हो जाएगा.

अर्जुनराम गैर सियासी शख्स-गोविंद राम

गोविंदराम मेघवाल ने अर्जुनराम मेघवाल को लेकर कहा कि वो पुराने राजनीतिक व्यक्ति नहीं है .उन्होंने रिटायरमेंट के बाद राजनीति शुरु की थी.और मोदी लहर के चलते वो जीत गए.लेकिन असल सच्चाई ये है कि उनके पास कोई जनाधार नहीं है .साथ ही उन्होंने बीते 15 साल में कोई काम नहीं कराए.लेकिन आरएसएस को ऐसा ही नेता चाहिए.जिनका खुद का कोई जनाधार नहीं हो.वो एक गैर सियासी शख्स है.और वो अगला लोकसभा चुनाव भी हारेंगे.

कोरोना में पापड़ बेचने के आरोप लगाए

विधायक गोविंद राम मेघवाल ने आरोप लगाया कि वो कोरोना के दौरान तो पापड़ बेचने में लगे हुए थे.और हो सकता है कि उनके किसी मित्र ने उन्हें चंदा दिया हो.क्योंकि लाख प्रयास के बाद भी कोरोना में उनके पापड़ नहीं बिक रहे थे. वो कह रहे थे की भाभी जी के पापड़ खाओ कोरोना भगाओ, लेकिन ऐसे लोग अब चुनाव नहीं जीत सकेंगे. गोविंद मेघवाल ने कहा कि कैलाश मेघवाल भाजपा के वरिष्ठ नेता थे, जिनको अर्जुन राम ने नीचा दिखाकर पार्टी से बाहर कराया. आगे उन्होंने कहा कि सीएम गहलोत पर कुछ भी बोलने से पहले उन्हें सात जन्म लेने होंगे. बावजूद उसके वो सीएम गहलोत का मुकाबला नहीं कर सकेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here