Home Politics विधानसभा चुनाव से पहले ऐसा क्या हुआ कि पायलट हो गए गहलोत...

विधानसभा चुनाव से पहले ऐसा क्या हुआ कि पायलट हो गए गहलोत की तारीफ करने को मजबूर ?

81
0
सचिन पायलट (फाइल फोटो)

राजस्थान में विधानसभा चुनाव के लिए काफी कम समय बचा हुआ है। कांग्रेस की गहलोत सरकार पूरे जोर के साथ चुनाव प्रसार में लगी हुई है। गहलोत सरकार के पांच सालों में कांग्रेस के दिग्गज नेता सचिन पायलट ने लगातार सीएम अशोक गहलोत पर आरोप लगाते हुए उनकी नींद उड़ा दी थी। कई मुद्दों को लेकर सचिन पायलट ने गहलोत सरकार को घेरा। एक तरफ जहां अशोक गहलोत अपने तीखे बयानों से  सचिन पायलट पर आरोप लगाते थे वही अब चुनाव आते ही पायलट और गहलोत एकदूसरे की ताऱीफ करने में लगे हुए है.

पायलट ने क्यों किए बगावती तेवर शांत

 बता दें कि आलाकमान के हस्तक्षेप के बाद पहले गहलोत और पायलट के बीच हुई सुलह के बाद ना सिर्फ पायलट ने अपने बगावती तेवर शांत कर लिए बल्कि राजस्थान में लगातार दूसरी बार कांग्रेस सरकार बनने के दावे कर रहे हैं। इतना ही नहीं अब सचिन पायलट अशोक गहलोत के प्रचार प्रसार में भी लगे हुए है। सचिन में पायलट ने कहा कि राज्य में कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार ने अपराध के मामलों में तेजी से कार्रवाई की है।

पायलट अब बीजेपी पर हमलावर

उन्होंने मुख्य विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि चुनाव आते ही ये जनता के बीच जाकर उन्हें गुमराह कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में अपराध के मामले अधिक हुए हैं, लेकिन भाजपा के नेता राजस्थान में विधानसभा चुनाव को देखते हुए यहां कानून-व्यवस्था को मुद्दा बना रहे हैं। वही लगातार पायलट जहां भी जनसभाओं को संबोधित कर रहे है या फिर मीडिया से रुबरु हो रहे है वहा पर जमकर गहलोत तारीफ कर रहे है .

पार्टी की एकजुटता से होगी जीत

अब ये आलाकमान की हिदायत का असर है या फिर गहलोत और पूर्व डिप्टी सीएम के बीच सुलह का असर है ये तो अंदर की बात है .लेकिन बड़ी बात ये है कि इससे सबसे बड़ा फायदा तो ये होगा कि पार्टी की एकजुटता कही ना कही चुनावों में फायदेमंद साबित होगी.क्योंकि एक समय था जब पार्टी अलग थलग थी और नेता एक दूसरे के खिलाफ आग उगलने से भी नही कतरा रहे थे.लेकिन फिलहाल चुनावी माहौल और बीजेपी को धूल चटाने के लिए अशोक गहलोत,पूर्व डिप्टी सीएम समेत तमाम कांग्रेस नेता एकजुटता के साथ मैदान में उतर गए है .और इसका असर भी देखने को मिल रहा है जहा बीजेपी की परिवर्तन यात्रा में नाम मात्र की भीड देखी जा रही है वही कांग्रेस की सभाओं में जमकर लोग उमड रहे है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here