Home Education मंत्री बीडी कल्ला ने 142 भामाशाहों का किया सम्मान, कहा- विभाग ने...

मंत्री बीडी कल्ला ने 142 भामाशाहों का किया सम्मान, कहा- विभाग ने पिछले साल बनाए 6 विश्व रिकॉर्ड

70
0
मंत्री बीडी कल्ला ने 142 भामाशाहों का किया सम्मान, कहा- विभाग ने पिछले साल बनाए 6 विश्व रिकॉर्ड

The Angle

जयपुर।

जयपुर के बिड़ला सभागार में शिक्षा विभाग के राज्य स्तरीय भामाशाह सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। इसमें मंत्री बीडी कल्ला ने राज्य स्तर पर 142 भामाशाहों को सम्मानित किया, जिन्होंने राज्य सरकार को शिक्षा के क्षेत्र में कुल 171 करोड़ 12 लाख रुपए की राशि का सहयोग दिया। डॉ. कल्ला ने कहा कि शिक्षा विभाग भामाशाहों की ओर से दिए गए दान का उपयोग स्कूलों के गुणात्मक सुधार और विस्तार के लिए कर रहा है। साथ ही कई योजनाएं जैसे निःशुल्क शिक्षा, मिड डे मील, बाल गोपाल योजना, स्कूल ड्रेस योजना का संचालन भी सुचारु रूप से किया जा रहा है। उन्होंने निर्देश दिया कि हर विद्यालय की मैनेजमेंट एंड डेवलपमेंट कमेटी में भामाशाहों के प्रतिनिधि का होना अनिवार्य हो।

बीडी कल्ला बोले- राजस्थान स्कूली शिक्षा गुणवत्ता सूचकांक में अग्रणी

उन्होंने बताया कि शिक्षा विभाग की प्रमुख योजनाओं के कारण राज्य स्कूली शिक्षा गुणवत्ता सूचकांक में अग्रणी है और गत वर्ष शिक्षा विभाग ने 6 विश्व रिकॉर्ड अपने नाम किए हैं। साथ ही इंस्पायर अवार्ड में राज्य के विद्यार्थी लगातार 3 वर्ष से सम्पूर्ण देश में प्रथम आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि हर वर्ष शिक्षा विभाग की ओर से लगभग 400 करोड़ का व्यय शिक्षण संस्थानों की आधारभूत संरचना के लिए किया जाता है, जिसमें भामाशाहों का योगदान महत्वपूर्ण है। साथ ही उन्होंने विद्यार्थियों को भी अपने विद्यालय के प्रति समर्पित रहने और पूर्व छात्रों को विद्यालय की प्रगति में योगदान देने के लिए प्रेरित किया।

विभाग के शासन सचिव बोले- भामाशाहों से मिली सहयोग राशि का सदुपयोग करें

इस अवसर पर शिक्षा विभाग के शासन सचिव नवीन जैन ने कहा कि यह हमारी जिम्मेदारी है कि भामाशाहों से मिली सहयोग राशि का हम सदुपयोग करें। उन्होंने बताया कि विभाग का नवाचार “मिशन स्टार्ट” एक महत्वपूर्ण कदम है, जिसमें ई-कक्षा द्वारा विद्यार्थियों को हर विषय का ई-कंटेंट उपलब्ध कराया जा रहा हैं। इस नवाचार के लिए उन्होंने भामाशाहों के योगदान का आव्हान किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here