Home Politics गोविंद डोटासरा के बयान पर राजेंद्र राठौड़ बोले- पार्टी प्रमुख के...

गोविंद डोटासरा के बयान पर राजेंद्र राठौड़ बोले- पार्टी प्रमुख के पद पर बैठे व्यक्ति को ऐसे बयान शोभा नहीं देता

100
0
गोविंद डोटासरा के बयान पर राजेंद्र राठौड़ बोले- पार्टी प्रमुख के पद पर बैठे व्यक्ति को ऐसे बयान शोभा नहीं देता (फाइल इमेज)

The Angle

जयपुर।

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा और नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ के बीच सियासी बयानबाजी लगातार जारी है। डोटासरा के बयान पर राठौड़ ने कहा कि वे जिस तरह से मेरे निजी जीवन पर बयान दे रहे हैं, वह एक पार्टी के प्रमुख पद पर बैठे व्यक्ति को शोभा नहीं देता है। डॉक्टर बता रहे थे कि जिम्मेदार पद पर बैठा हुआ व्यक्ति इस तरह की बयान बाजी तब करता है जब वो सेकेंड बिहेवियर डिसॉओर्डर (एसबीडी) से ग्रसित हो। वहीं उपनेता प्रतिपक्ष डॉ सतीश पूनिया ने डोटासरा को मानसिक रूप से विचलित बताते हुए, बीजेपी की सरकार बनने पर उनके इलाज के लिए अलग से विभाग खोलने की बात तक कह दी।

राजेंद्र राठौड़ बोले- एसबीडी की वजह से ऐसे बयान दे रहे पीसीसी चीफ डोटासरा

नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने कहा कि डोटासरा मेरे अच्छे मित्र हैं इसलिए मैं उनके किसी बयान पर जवाब नहीं देता हूं। लेकिन मैंने कुछ मनोचिकित्सक से सलाह ली कि आखिर जिम्मेदार पदों पर बैठा हुआ व्यक्ति इस तरह से किसी के निजी जीवन पर बयान कैसे दे सकता है। इसको लेकर उन्होंने बताया कि कुछ लोगों को एसबीडी यानी सेकंड बिहेवियर डिसऑर्डर बीमारी हो जाती है। इसकी वजह से वह अपनी जिम्मेदारी को भूल जाते हैं और इस तरह के बयान देते हैं। राठौड़ ने आगे कहा कि डोटासरा मेरे अच्छे मित्र हैं, वे मेरी बहुत चिंता करते हैं। लेकिन मुझे भी चिंता है कि वे बीमारी इस तरह की गंभीर बीमारी से ग्रसित हो गए। अब इन हालातों में वो कोई बयान दे रहे हैं तो मुझे उनपर कोई टिप्पणी नहीं करनी है। लेकिन जब भी मौका आएगा और सही वक्त आएगा तब मैं उसका जवाब जरूर दूंगा।

पूनिया बोले- जिस पार्टी के नेता ऐसे बयान दे रहे, उनकी पार्टी की सरकार में कितनी गंभीरता होगी

डोटासरा की ओर से राजेंद्र राठौड़ को लेकर दिए जा रहे बयानों पर उप नेता प्रतिपक्ष सतीश पूनिया ने भी पलटवार किया। पूनिया ने कहा कि कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा और जितने भी कांग्रेस के नेता हैं, वे रामलीला के पात्र की तरह काम कर रहे हैं। इस तरह के बयान देने से गंभीरता नजर नहीं आती है। इससे लगता है कि जिस पार्टी के मुखिया इस तरह के बयान दे रहे हैं, उस पार्टी की सरकार में भी कितनी गंभीरता होगी। सरकार पर पार्टी में गंभीरता होनी चाहिए। इस तरह से सोशल मीडिया पर वीडियो शेयर करने से गंभीरता नजर नहीं आती है। इस तरह की हरकत जब आदमी मानसिक रूप से बहुत ज्यादा विचलित होता है तभी करता है। पूनिया ने कहा जब हमारी सरकार आएगी तो हम इस तरह के मानसिक रूप से विचलित नेताओं के उपचार के लिए अलग से विभाग खोलेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here