Home Crime भीलवाड़ा मामले सहित महिला अपराधों पर सियासत तेज, दीया कुमारी-रंजीता कोली ने...

भीलवाड़ा मामले सहित महिला अपराधों पर सियासत तेज, दीया कुमारी-रंजीता कोली ने बोला हमला

103
0
भीलवाड़ा मामले सहित महिला अपराधों पर सियासत तेज, दीया कुमारी-रंजीता कोली ने बोला हमला

The Angle

दिल्ली।

राजस्थान से भाजपा सांसद दीया कुमारी और रंजीता कोली ने भीलवाड़ा में एक नाबालिग बच्ची को भट्टी में डालकर जला देने सहित महिला अत्याचार से जुड़ी प्रदेश की अन्य घटनाओं को लेकर राज्य सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि गहलोत सरकार में राजस्थान पूरे देश का रेप कैपिटल बन गया है। सीएम गहलोत प्रदेश के गृह मंत्री भी हैं, इसलिए महिला अत्याचार के बढ़ते मामलों को देखते हुए उन्हें अपने पद पर बने रहने का कोई अधिकार नहीं है।

ओसियां विधायक दिव्या मदेरणा के महिला अपराध को लेकर दिए बयान का किया जिक्र

दिल्ली में भाजपा मुख्यालय में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान दीया कुमारी ने कहा कि प्रदेश में राजधानी जयपुर सहित हर जिले में दिल दहलाने वाली वारदातें हो रहीं हैं, महिलाओं और नाबालिगों के खिलाफ अपराध की घटनाएं तेजी से बढ़ रही हैं। प्रदेश की गहलोत सरकार में महिलाएं और लड़कियां सुरक्षित नहीं हैं। हालात इतने भयावह हो गए हैं कि राजस्थान पूरे देश का रेप कैपिटल बन गया है और यह एनसीआरबी के आंकड़े कह रहे हैं। वहीं जोधपुर के ओसियां से कांग्रेस विधायक दिव्या मदेरणा के बयान का जिक्र करते हुए दीया कुमारी ने कहा कि एक कांग्रेस विधायक तो यहां तक कह रही हैं कि वे खुद को भी प्रदेश में सुरक्षित महसूस नहीं करती हैं।

दीया कुमारी ने पूछा- प्रियंका गांधी राजस्थान में किसी पीड़िता से मिलने क्यों नहीं जातीं ?

उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के पास गृह मंत्रालय भी है, लेकिन वे सिर्फ अपनी कुर्सी बचाने में लगे हैं। उनकी नेता प्रियंका गांधी घूमने के लिए रणथंभौर आती हैं, लेकिन किसी भी पीड़िता से मिलने नहीं जातीं। वहीं पार्टी के विरोध प्रदर्शन और संसद में मामला उठाने के सवाल पर दीया कुमारी ने कहा कि पार्टी ने 5 जुलाई को एक बहुत बड़ा प्रदर्शन किया था, जिसमें कई नामी हस्तियां भी शामिल हुई थीं। जहां तक सवाल मामले को संसद में उठाने का है, तो ये विषय राज्य सरकार का है, इसलिए राज्य सरकार को इस पर एक्शन लेना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here