Home National हरियाणा के नूंह की हिंसा पर गहलोत ने खट्टर को घेरा,तो औवेसी...

हरियाणा के नूंह की हिंसा पर गहलोत ने खट्टर को घेरा,तो औवेसी राजस्थान के सीएम पर भड़के !

131
0
अशोक गहलोत,औवेसी,मनोहर लाल खट्टर (फाइल फोटो )

हरियाणा के नूंह में भड़की सांप्रदायिक हिंसा की आग ने राजनीतिक गलियारों में भी हलचल बढ़ा दी है .तमाम नेताओं के इस हिंसा को लेकर बयान सामने आ रहे है .जहां एक ओर विपक्ष के नेता हरियाणा की खट्टर सरकार पर हिंसा रोकने में नाकामी बता रहे है तो वही दूसरी और इस घटना को अन्य नेता इस हिंसा को जुनैद नासिर हत्याकांड से जोड़कर राजस्थान सरकार पर भी हमला बोल रहे है.जहां सीएम गहलोत ने इस हिंसा को लेकर हरियाणा सरकार पर सवाल खड़े किए तो वही असदुद्दीन औवेसी ने सीएम गहलोत पर हमला बोला है.

गहलोत ने बोला खट्टर सरकार पर हमला

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर पर ट्वीट के जरिए तंस कसा है उन्होने कहा ट्वीट कर कहा कि हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर मीडिया में बयान देते हैं कि राजस्थान पुलिस की हरसंभव मदद करेंगे परन्तु जब हमारी पुलिस नासिर-जुनैद हत्याकांड के आरोपियों को गिरफ्तार करने गई तो हरियाणा पुलिस ने कोई सहयोग नहीं किया बल्कि राजस्थान पुलिस पर FIR तक दर्ज कर ली। जो आरोपी फरार हैं उन्हें तलाशने में हरियाणा पुलिस राजस्थान पुलिस का सहयोग नहीं कर रही। श्री खट्टर हरियाणा में हो रही हिंसा को रोकने में नाकाम रहे और अब सिर्फ लोगों को ध्यान भटकाने के लिए इस तरह के बयान दे रहे हैं जो उचित नहीं है।

गहलोत के ट्वीट पर औवेसी का तंज

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के ट्वीट पर असदुद्दीन औवेसी ने हमला बोला है.दरअसल आज गहलोत ने ट्वीट के माध्यम से हरियाणा के मुख्यमंत्री पर हमला बोला है .उसी ट्वीट पर रिट्वीट करते हुए औवेसी ने सीएंम गहलोत पर तंज मारा है .उन्होने ट्वीट के जरिए कहा कि गहलोत साहब, हरियाणा की भाजपा सरकार से हम वैसे भी कोई उम्मीद नहीं रखते, लेकिन नासिर-जुनैद की हत्या से लेकर अब तक आपके प्रशासन ने सुस्ती और लाचारी दिखाई है। चाहे वो उनके परिवारों को मुआवजा देने की बात हो या उनके कातिलों को पकड़ने की।

औवेसी ने सरकार पर सवाल खड़े किए

जुनैद-नासिर का कत्ल फरवरी में हुआ था। अगर खट्टर सरकार आपका सहयोग नहीं कर रही थी, तो तब से लेकर अब तक आपकी सरकार ने क्या कदम उठाए? आपकी सरकार Article 131 के तहत हरियाणा सरकार के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट क्यों नहीं गई? जिस तरह से इस हिंसा की आग भी भड़की हुई है वही दूसरी सियासी नेता अपने अपने बचाव में और अपने अपने तर्कों के आधार पर एक दूसरे पर सवाल खड़े कर रहे है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here