Home Politics सीएम अशोक गहलोत के समर्थक और बर्खास्त मंत्री राजेंद्र गुढ़ा के समर्थक...

सीएम अशोक गहलोत के समर्थक और बर्खास्त मंत्री राजेंद्र गुढ़ा के समर्थक आपस में भिड़े,मारपीट की नौबत आई

65
0
राजेंद्र गुढ़ा (फाइल फोटो)

बर्खास्त मंत्री राजेंद्र गुढ़ा एक बार फिर से सुर्खियों में आ गए है .और इस बार उनके सुर्खियों में आने का कारण उनके समर्थक और सीएम गहलोत के समर्थकों में मारपीट का मामला है.दरअसल दोनों ही नेताओं के समर्थक आपस में भिड़ गए और नौबत मारपीट तक आ पहुंची.लेकिन पुलिस बीच बचाव कर मामला शांत करवा दिया.यह घटना झुंझुनू के उदयपुरवाटी सरकारी कॉलेज के उद्धाटन के समय की है .

राजेंद्र गुढ़ा ने साधा सरकार पर निशाना

गुढ़ा उदयपुरवाटी में कॉलेज के उद्धाटन कार्यक्रम में पहुंचे थे.और यहां आयोजित कार्यक्रम में पूर्व मंत्री गुढ़ा ने जमकर गहलोत सरकार पर निशाना साधा.उन्होंने कहा कि साल 2008 और 2018 में गुढ़ा को खैरात में मंत्री पद नहीं मिला था.प्रदेश की लंगड़ी सरकार को दोनों बार छह-छह विधायक देकर मजबूती प्रदान की थी.विधानसभा क्षेत्र को तीन-तीन सरकारी कॉलेज ऐसे नहीं मिले। गुढ़ा ने पांव पर पांव रखकर अधिकार के साथ कॉलेज बनवाए हैं। सरकारी कॉलेज, ट्रोमा सेंटर, नगर पालिका आदि भीख में नहीं लेकर आए।

राजेंद्र गुढ़ा के भाषण पर सीएम समर्थकों का फूटा गुस्सा

गुढ़ा लगातार सरकार के खिलाफ भाषणबाजी कर रहे थे.इसी बीच यहां मौजूद गहलोत समर्थकों का गुस्सा फूट पड़ा.यहां मौजूद कांग्रेस नेता संदीप सैनी के समर्थक सीएम अशोक गहलोत जिंदाबाद के नारे लगाने लगे.साथ ही गुढ़ा के समर्थक भी उनके समर्थन में नारेबाजी करने लगे.इसी बीच देखते ही देखते दोनों के समर्थकों में मारपीट हो गई.लेकिन वहां मौजूद पुलिस ने बीच-बचाव कर मामला शांत करवाया

सीएम समर्थकों ने थाने के बाहर किया प्रदर्शन


घटना के बाद गहलोत समर्थक संदीप सैनी के नेतृत्व में सैकड़ों कार्यकर्ता थाने के सामने एकत्र हो गए। उन्होंने विधायक गुढ़ा के खिलाफ जताया। उन्होंने गुढ़ा और उनके समर्थकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की मांग की। सूचना मिलने पर ASP शालिनी थाने पहुंची।उन्होंने संदीप सैनी और उनके समर्थकों को समझाया। पुलिस ने बताया कि विधायक के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने से पहले सरकार से स्वीकृति लेनी होती है। धनावता निवासी अशोक राठी ने विधायक गुढ़ा और उनके समर्थकों के खिलाफ शिकायत दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here