Home Business आरबीआई ने नए साल से पहले जनता को दिया तोहफा, रेपो रेट...

आरबीआई ने नए साल से पहले जनता को दिया तोहफा, रेपो रेट 6.5 प्रतिशत पर स्थिर

45
0
आरबीआई ने नए साल से पहले जनता को दिया तोहफा, रेपो रेट 6.5 प्रतिशत पर स्थिर

The Angle

मुंबई।

भारतीय रिजर्व बैंक ने आम लोगों को न्यू ईयर का बड़ा तोहफा दिया है। आने वाले दिनों के लिए होम और कार लोन ईएमआई में इजाफा नहीं होगा। रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने मौद्रिक समीक्षा बैठक के नतीजों का ऐलान करते हुए रेपो रेट स्थिर रखने का फैसला किया है। आरबीआई के फैसले के बाद एक बार फिर से ब्याज दर 6.5 फीसदी पर बना हुआ है। बता दें ये लगातार 5वीं बार है जब आरबीआई ने रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं किया है। आरबीआई ने अंतिम बार इसी साल फरवरी में रेपो दर को बढ़ाकर 6.5 फीसदी किया था।

मॉनेटरी पॉलिसी कमेटी ने रेपो रेट स्थिर रखने का किया फैसला

आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि मॉनेटरी पॉलिसी कमेटी ने सर्वसम्मति से पॉलिसी रेपो रेट को 6.5 फीसदी पर अपरिवर्तित रखने का फैसला लिया है। वहीं स्थाई जमा सुविधा दर 6.25 फीसदी और सीमांत स्थाई सुविधा दर और बैंक दर 6.75 फीसदी पर बनी रहेगी। उन्होंने कहा कि अगले साल जून तक ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं होगा। ऐसे में माना जा रहा है कि उसके बाद ही लोन ईएमआई में राहत मिलने के आसार हैं। शक्तिकांत दास ने कहा कि नवंबर में पीएमआई बढ़ा है, वहीं जीएसटी कलेक्शन में भी ग्रोथ देखने को मिली है। चालू वर्ष 2023-24 के लिए वास्तविक जीडीपी वृद्धि 7 फीसदी रह सकती है।

आरबीआई गवर्नर दास बोले- महंगाई दर 4 प्रतिशत लाने की कोशिश जारी

महंगाई पर बोलते हुए आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि महंगाई दर 4 प्रतिशत पर लाने के लिए आरबीआई की कोशिश जारी है। लेकिन शुगर कीमतों में बढ़ोतरी चिंता का विषय है। फाइनेंशियल इयर 2024 के लिए सीपीआई अनुमान 5.4 प्रतिशत है। सीपीआई अनुमान 5.6 प्रतिशत पर बरकरार रखा गया है। इसी तरह FY25 की पहली तिमाही में सीपीआई अनुमान 5.2 प्रतिशत रखने का फैसला लिया गया है। हालांकि Q3FY25 के लिए सीपीआई अनुमान 4.7 प्रतिशत है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here