Home Politics सुखजिंदर सिंह रंधावा ने ली यूथ कांग्रेस पदाधिकारियों की बैठक, अपने बच्चों...

सुखजिंदर सिंह रंधावा ने ली यूथ कांग्रेस पदाधिकारियों की बैठक, अपने बच्चों के लिए टिकट मांग रहे नेताओं को दी नसीहत

112
0
सुखजिंदर सिंह रंधावा ने ली यूथ कांग्रेस पदाधिकारियों की बैठक, अपने बच्चों के लिए टिकट मांग रहे नेताओं को नसीहत

The Angle

जयपुर।

एआईसीसी के राजस्थान प्रभारी सुखजिंदर सिंह रंधावा पीसीसी कार्यालय पहुंचे। यहां रंधावा ने यूथ कांग्रेस के प्रदेशभर के नेताओं और पदाधिकारियों की बैठक ली। बैठक में यूथ कांग्रेस के तमाम पार्टी पदाधिकारी मौजूद रहे। वहीं बैठक के बाद सुखजिंदर सिंह रंधावा मीडिया से भी रूबरू हुए।

सुखजिंदर सिंह रंधावा बोले- भाजपा के अनर्गल बयानों का मुंहतोड़ जवाब देगी यूथ कांग्रेस

इस दौरान उन्होंने बताया कि यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ता विधानसभा चुनाव के दौरान न सिर्फ भाजपा नेताओं के प्रदेश की कांग्रेस सरकार के खिलाफ लगाए गए अनर्गल बयानों का जवाब देंगे, बल्कि सोशल मीडिया पर भी सरकार के खिलाफ फैलाई जा रही भ्रामक जानकारियों की सच्चाई जनता को बताएंगे। साथ ही व्हॉट्सएप ग्रुप्स के माध्यम से लोगों को कांग्रेस से जोड़ने और कांग्रेस की रीति-नीति के बारे में जानकारी देंगे। इसके अलावा जिले से लेकर ब्लॉक स्तर तक प्रदेशभर में कांग्रेस के पक्ष में माहौल बनाने के लिए भी यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ता काम करेंगे।

बड़े नेताओं को एक परिवार से एक लीडर की भावना मन में लानी होगी- एआईसीसी प्रदेश प्रभारी

वहीं मंत्री-विधायकों के अपने बच्चों को टिकट दिलाने की मांग को लेकर उन्होंने कहा कि जब तक हम बड़े लीडर्स अगर अपने परिवार के लोगों को ही पॉलिटिक्स में आगे लाने की कोशिश करते रहेंगे, तो फिर पार्टी का कार्यकर्ता कैसे आगे बढ़ पाएगा। उन्होंने खुद का उदाहरण देते हुए कहा कि मैंने कभी मेरे बेटे को टिकट दिलाने की पैरवी नहीं की। इसी तरह जब मेरे पिता पीसीसी प्रेसिडेंट थे तो उन्होंने कभी भी मेरे बड़े भाई को पार्टी में कोई ओहदा या पार्टी का टिकट नहीं दिलवाया।

जब 1997 में उन्होंने मुझे पार्टी से टिकट दिलवाया, तो उन्होंने अपनी पोस्ट यह कहते हुए छोड़ दी कि एक परिवार से एक ही व्यक्ति को पद मिलना चाहिए। ये भावना हम सभी बड़े लीडर्स को अपने मन में लानी होगी, ताकि पार्टी के कार्यकर्ताओं को आगे बढ़ने का मौका मिल सके। उन्होंने कहा कि पार्टी का वर्कर तभी पार्टी के लिए काम करेगा और सड़कों पर लड़ेगा जब उसे लगेगा कि मेरी पार्टी में मेरा भविष्य भी है और इसी के लिए मैं काम कर रहा हूं।

भाजपा के पास नहीं कांग्रेस का मुकाबला करने लायक चेहरा

वहीं नेताओं के बच्चों को टिकट देने के सवाल पर राजस्थान कांग्रेस के प्रभारी रंधावा ने कहा कि ये नेता तय नहीं करेंगे कि टिकट किसे मिलनी चाहिए, बल्कि कांग्रेस पार्टी तय करेगी कि टिकट उन्हें देना है या उनके बच्चों को देना है। वहीं टिकट वितरण को लेकर उन्होंने फिर स्पष्ट कहा कि पार्टी टिकट उसी नेता को देगी जो वाकई में टिकट के लिए योग्य होगा और पार्टी को चुनाव में जिताकर लाएगा। इसी तरह भाजपा नेताओं के कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे को राजस्थान में अत्याचार पीड़ितों के घर जाने की सलाह पर एआईसीसी प्रभारी ने कहा कि हमारे यहां तो नेता जा रहे हैं, सीएम गहलोत भी गए थे, अन्य नेता भी जा रहे हैं, लेकिन मेरा सवाल भाजपा नेताओं से है कि क्या वे और उनकी पार्टी के नेता मणिपुर जाएंगे जहां लंबे समय से तनाव के हालात बने हुए हैं।

जबकि राजस्थान में ईडी कार्रवाई पर कहा कि भाजपा के पास ऐसा कोई चेहरा नहीं है जो कांग्रेस से मुकाबला कर सके क्योंकि गहलोत सरकार ने प्रदेश के विकास में कोई कमी नहीं रखी है। इसलिए मोदी सरकार ईडी के जरिए कांग्रेस नेताओं को चुप कराना चाहती है। लेकिन हमारी पार्टी के नेता हर हाल में चुनाव जीतेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here