Home Rajasthan राजस्थान के 47 जिलों में नहीं मिल रहा पेट्रोल-डीजल,ब्लैक से महंगे दामों...

राजस्थान के 47 जिलों में नहीं मिल रहा पेट्रोल-डीजल,ब्लैक से महंगे दामों पर बिक रहा पेट्रोल-डीजल

67
0
पेट्रोल-डीजल संचालक हड़ताल (फाइल फोटो)

राजस्थान में पेट्रोल डीजल अब पूरी तरह से बंद हो गया है .लगभग दो दिनों की सांकेतिक हड़ताल के बाद आज से संपर्ण पंप करने का आह्वान एसोसिएशन के द्वारा किया गया है .दो दिनों के भीतर पंप संचालकों ने सुबह 10 से शाम 6 बजे तक पंप रखकर सांकेतिक हड़ताल की थी .और सरकार से मांगों पर सहमति बनवाने के लिए दबाव बनाया गया था.लेकिन दो दिन बाद सरकार के किसी भी प्रतिनिधि की ओर एसोसिएशन की ओर संपर्क नहीं किया गया.जिसके बाद आज से संचालकों ने पूर्णत बंद बुलाने का आह्वान किया.जिसके चलते प्रदेश में अधिकतर पंप बंद रखे गए है और इसका सीधा असर आमजन और उद्योग धंधों पर भी देखा जा रहा है.

राजस्थान में कितना असर

पंप संचालकों ने करीब दो दिन की सांकेतिक हड़ताल रखी थी.लेकिन आज से पूर्णत बंद रखने के बाद सीधा सीधा असर आमजन पर देखने को मिला .सरकार द्वारा चिन्हिंत कुछ पेट्रोल पंपों पर ही पेट्रोल डीजल मिल पा रहा है .जिसके चलते वहां पर आमजन को घंटों लाइनों में लगकर पेट्रोल-डीजल मिल पा रहा है .प्रदेश में करीब कंपनी संचालित 60 पंप काम कर रहे है .लेकिन वहां भी हालात परे है .क्योंकि ये आमजन की पहुंच से परे है .इसके चलते आमजन को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.सरकार की ओर से आज भी संचालकों को वार्ता के लिए बुलाया गया है .जिसके बाद ही कुछ निर्णय निकलकर सामने आएगा

राजस्थान में कालाबाजारी शुरु

बंद का असर सीधा सीधा आमजन की जेब पर भी पड़ रहा है.क्योंकि ब्लैक से पेट्रोल और डीजल बेचने वालों में महंगे दामों पर पेट्रोल-डीजल बेचना शुरु कर दिया है .जिसके चलते आमजन को मजबूरी में महंगे दामों पर पेट्रोल खरीदना पड़ रहा है .आपको बता दे ब्लैक से पेट्रोल-डीजल बेचने वाले प्रति लीटर 130 से 140 रुपये बेच रहे है .जिसके चलते पेट्रोल डीजल खरीदने वालों के लिए परेशानी का सबब बन गया है .वही इन सबके बीच अगर जल्द से जल्द इस मसले पर कोई सकारात्मक निर्णय निकलकर सामने नही आया तो आगे परेशानियां और बढ़ सकती है .

वैट ज्यादा होने से ये भी परेशानी

प्रदेश में वैट ज्यादा होने से ट्रक व बस संचालक वाहनों से पड़ोसी राज्यों पंजाब, यूपी, हरियाणा, गुजरात व दिल्ली से ईंधन भरवाकर लाते है। इससे राज्य के 25 जिले सोधी तौर पर प्रभावित हैं। गंगानगर और हनुमानगढ़ जैसे इलाकों में स्थिति ज्यादा खराब है। पंजाब से सटे होने के कारण हनुमानगढ़, गंगानगर में पेट्रोल-डीजल की तस्करी भी हो रही है। इसी वजह से पिछले चार सालों में 270 पेट्रोल पंप बंद हो चुके और कई अन्य भी बंद होने की कगार पर हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here