Home Politics शेखावत ने गहलोत पर बोला हमला,तो सीएम के विशेषाधिकारी लोकेश शर्मा ने...

शेखावत ने गहलोत पर बोला हमला,तो सीएम के विशेषाधिकारी लोकेश शर्मा ने केंद्रीय मंत्री पर कसा करारा तंज !

104
0
लोकेश शर्मा ,गजेंद्र सिंह शेखावत (फाइल फोटो)

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के द्वारा पीएम मोदी को लेकर दिए गए बयान पर सियासत शुरु हो गई है .अब बीजेपी नेता मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बयान को लेकर उन पर हमलावर है .तो वही मुख्यमंत्री के ओएसडी लोकेश शर्मा भी बीजेपी नेताओं को करारा जवाब दे रहे है .अब केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत और सीएम के विशेषाधिकारी लोकेश शर्मा के बीच गहलोत के बयान को लेकर ट्विटर वॉर शुरु हो गया है .

गहलोत के बयान पर शेखावत का ट्वीट

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के पीएम मोदी पर दिए बयान के बाद बीजेपी में आक्रोश है .केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने भी ट्वीट के माध्यम से सीएम गहलोत पर हमला बोला है .उन्होने ट्वीट करके कहा कि मोहब्बत की दुकान खोलने वालों के बोल सुन लीजिए, पहले कहते थे मोदी जी केवल भाजपा के प्रधानमंत्री हैं और अब कहने लगे कि हिंदुओं के प्रधानमंत्री हैं। आपको हिंदुओं से इतनी क्या समस्या है जनाब? देश के विभाजन के समय से आज राम मंदिर के निर्माण तक कांग्रेस हमेशा हिंदुओं के विरुद्ध रही है। आप और आपका वोट बैंक कैसा प्रधानमंत्री चाहते हैं? चीन को जमीन देने वाला या पाकिस्तान के सामने सर झुकाने वाला!

गहलोत के विशेषाधिकारी ने बोला शेखावत पर हमला

केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत के बयान पर सीएम के विशेषाधिकारी लोकेश शर्मा ने ट्वीट कर पलटवार किया है.उन्होंने ट्वीट के माध्यम से लिखा कि सुबह होते ही केंद्रीय मंत्री के अनर्गल आरोप शुरू हो जाते हैं. आपकी जानकारी के लिए बता दूं पाकिस्तान के सामने सिर झुकाने वाली नहीं, बल्कि 1971 में पाकिस्तानी सेना का सरेंडर करवाने वाली प्रधानमंत्री कांग्रेस की थीं. निर्माणाधीन श्री राम मंदिर के लिए पत्थरों की सुगम सप्लाई के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ही कदम उठाए थे. भाजपा कितने ही प्रयास कर ले, लेकिन राजस्थान की जनता धार्मिक ध्रुवीकरण और मोदी के नाम पर वोट नहीं देगी.

ये था सीएम का बयान

बता दें कि सोमवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने नए जिला मुख्यालय के स्थापना समारोह के दौरान पीएम मोदी पर जमकर हमला बोला था. सीएम गहलोत ने कहा था कि प्रधानमंत्री का पद देश का अहम पद होता है, वो किसी पार्टी का नहीं होता है. प्रधानमंत्री भ्रम फैलाते हैं, उन्हें लगता है वो सिर्फ बीजेपी के प्रधानमंत्री हैं. उनकी भाषा से ऐसा लगता है कि वह केवल बीजेपी और हिंदुओं के ही प्रधानमंत्री है. जो बहुत खतरनाक बात है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here