Home Politics राज्यपाल का अभिभाषण नहीं कराने पर टीकाराम जूली का हमला, माइक बंद...

राज्यपाल का अभिभाषण नहीं कराने पर टीकाराम जूली का हमला, माइक बंद का मुद्दा भी उठाया

43
0
राज्यपाल का अभिभाषण नहीं कराने पर टीकाराम जूली का हमला, माइक बंद का मुद्दा भी उठाया

The Angle

जयपुर।

16वीं राजस्थान विधानसभा के दूसरे सत्र की कार्यवाही की शुरुआत हंगामे के साथ हुई। सदन राज्यपाल अभिभाषण से शुरू होना चाहिए और इसको लेकर पक्ष और विपक्ष के बीच जोरदार हंगामा हुआ। नेता प्रतिपक्ष जूली ने कहा कि जब भी नया सत्र शुरू होगा, राज्यपाल के अभिभाषण से होना चाहिए। संविधान को चैलेंज किया जा रहा है। इससे पहले भी 1993 में भी यही स्थिति हुई थी। स्पीकर वासुदेव देवनानी से नेता प्रतिपक्ष ने इसका परीक्षण करवाने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि हम संविधान की लड़ाई लड़ने आए हैं। वहीं इस दौरान टीकाराम जूली पर स्पीकर देवनानी पर माइक बंद करने का भी आरोप लगाया। जूली ने कहा कि लोकसभा में भी माइक बंद कर दिया जाता है, यहां भी आप मेरा माइक बंद कर रहे हैं, मुझे बोलने तो दीजिए।

टीकाराम जूली की आपत्ति पर स्पीकर देवनानी ने टोका

ऐसे में स्पीकर देवनानी ने कहा कि सदन की कार्यवाही चलने दीजिए। संसदीय कार्य मंत्री जोगाराम पटेल ने कहा कि सदन की कार्यवाही विधि अनुसार शुरू हुई है। राज्यपाल का अभिभाषण एक बार होता है, वो हो चुका है। ये सत्र संवैधानिक है. नेता प्रतिपक्ष संविधान का आधार लेकर कानून का गलत व्याख्या कर रहे हैं।

जय कृष्ण पटेल ने ली विधायक पद की शपथ

वहीं इस दौरान बागीदौरा में हुए उपचुनाव में विजेता रहे भारतीय आदिवासी पार्टी के विधायक जय कृष्ण पटेल ने शपथ ली। स्पीकर देवनानी ने पटेल को शपथ दिलाई। बता दें जय कृष्ण पटेल बागीदौरा से उपचुनाव जीते हैं और इसके बाद आज उन्हें सदन में शपथ दिलाई गई। वहीं सदन में इस दौरान शोकाभिव्यक्ति भी की गई। इसके बाद सदन का कार्यवाही 4 जुलाई सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here