Home Politics पीएम मोदी के कार्यक्रम से स्पीच हटाने पर भड़के सीएम गहलोत, सिलेंडर...

पीएम मोदी के कार्यक्रम से स्पीच हटाने पर भड़के सीएम गहलोत, सिलेंडर सब्सिडी के 155 करोड़ रुपए किए डीबीटी

138
0
पीएम मोदी के कार्यक्रम से स्पीच हटाने पर भड़के सीएम गहलोत, सिलेंडर सब्सिडी के 155 करोड़ रुपए किए डीबीटी

The Angle

जयपुर।

सीएम अशोक गहलोत ने प्रदेशवासियों को महंगाई से राहत देते हुए आज एक बार फिर इंदिरा गांधी गैस सिलेंडर योजना के तहत करीब 155 करोड़ रुपए की सब्सिडी राशि डिजिटल माध्यम से योजना के लाभार्थियों के खाते में डीबीटी की। मुख्यमंत्री आवास पर इसका राज्य स्तरीय मुख्य आयोजन रखा गया था, जबकि तमाम जिला मुख्यालयों पर भी जिला स्तरीय कार्यक्रम आयोजित किए गए, जहां बड़ी संख्या में योजना लाभार्थी और आम जनता पहुंची।

पीएम मोदी के कार्यक्रम से संबोधन हटाने पर सीएम गहलोत ने जताई नाराजगी

इस दौरान मुख्यमंत्री गहलोत ने कार्यक्रम में पहुंचीं और विभिन्न जिलों से वर्चुअल माध्यम से जुड़ी महिला लाभार्थियों से संवाद किया और योजना को लेकर उनका फीडबैक लिया। वहीं कार्यक्रम में शामिल होने से पहले मुख्यमंत्री गहलोत आवास पर मीडिया से भी रूबरू हुए। इस दौरान उन्होंने जहां पीएम मोदी के सीकर दौरे के कार्यक्रम से ऐन वक्त पर उनका संबोधन हटा देने और उनके मौजूद रहने के बाद भी उन्हें कार्यक्रम से नहीं जोड़ने पर नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि इस तरह के कार्यक्रम आयोजित करती है। इसी तरह उन्होंने कहा कि मैंने केंद्र सरकार को इस बात की जानकारी दे दी थी कि मैं पैरों में चोट की वजह से कार्यक्रम स्थल पर मौजूद नहीं रह सकूंगा, लेकिन वर्चुअल माध्यम से कार्यक्रम से जुड़ सकूंगा। इसके बाद भी मेरा तय कार्यक्रम से संबोधन हटा दिया गया।

सीएम गहलोत ने गैस सिलेंडर सब्सिडी योजना के लाभार्थियों को किया संबोधित

मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि मैं कार्यक्रम में संबोधन के दौरान प्रदेश के हित से जुड़ी उन्हीं बातों को प्रधानमंत्री के सामने रखता, जिसकी जानकारी मैंने मेरा संबोधन कार्यक्रम से हटाने के चलते सोशल मीडिया पर दी। लेकिन देश में संघीय ढांचा होने के बाद भी किसी प्रदेश के वर्तमान मुख्यमंत्री के साथ इस तरह का व्यवहार किसी भी तरह से सही नहीं ठहराया जा सकता। वहीं इसके बाद सीएम गहलोत ने आवास पर आयोजित गैस सिलेंडर सब्सिडी से जुड़े कार्यक्रम को भी संबोधित किया।

जिन लोगों के लिए उज्जवला योजना शुरू की, वो लोग कैसे खरीद पाएंगे साढ़े 1100 रुपए का सिलेंडर

इस दौरान मुख्यमंत्री ने पीएम उज्जवला योजना को लेकर भी अपनी बात रखी। उन्होंने कहा कि ये योजना तो प्रधानमंत्री मोदी ने चलाई थी ताकि गरीब परिवारों की महिलाओं को धुएं से मुक्ति मिले, तब इन गरीब महिलाओं ने ये सोचा था कि उन्हें सस्ती दर पर गैस सिलेंडर मिल जाएगा। लेकिन बढ़ते-बढ़ते घरेलू गैस सिलेंडर के दाम आज साढ़े 1100 रुपए तक पहुंच गए हैं। अब जो गरीब व्यक्ति गैस सिलेंडर नहीं ले सकता, वो इस योजना का फायदा कैसे लेगा।

इसीलिए हमारी सरकार ने इन परिवारों को 500 रुपए में गैस सिलेंडर देने की योजना बनाई, इसके लिए प्रधानमंत्री मोदी जी को हमारी राजस्थान सरकार की तारीफ करनी चाहिए थी कि जिस मंशा के साथ उन्होंने ये योजना शुरू की थी, उसे आगे बढ़ाने के लिए राजस्थान एकमात्र राज्य है जो 500 रुपए में गैस सिलेंडर उपलब्ध करवा रहा है। लेकिन प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संबोधन में इसे लेकर कुछ नहीं कहा।

लाल डायरी पर तो बोले, पर लाल सिलेंडर, लाल टमाटर और मणिपुर हिंसा पर कुछ नहीं बोले प्रधानमंत्री

वहीं प्रदेश के मौजूदा समय समय में सबसे ज्यादा चर्चित लाल डायरी के मुद्दे पर सीएम गहलोत ने कहा कि प्रधानमंत्री जी लाल डायरी की बात कर रहे थे और मैंने सुना कि कल संसद में भी भाजपा सांसदों ने लाल डायरी लहराई, वहीं विधानसभा में भी भाजपा विधायकों ने लाल डायरी लहराई थीं। प्रधानमंत्री और भाजपा उस मुद्दे को बड़ा बना रही है जो असल में कुछ है ही नहीं। इसकी बजाय प्रधानमंत्री मोदी को उस लाल सिलेंडर को सस्ता करने के बारे में बोलना चाहिए था जिसकी कीमत आज साढ़े 1100 रुपए हो गई है। प्रधानमंत्री को लाल टमाटर के बारे में बोलना चाहिए था जिसकी कीमत आज 150 रुपए प्रतिकिलो हो गई है।

प्रधानमंत्री को अपने स्पीच में महंगाई से त्रस्त जनता के लाल हुए चेहरे और उन्हें महंगाई से राहत दिलाने पर कहना चाहिए था, लेकिन वे असल मुद्दों से लोगों का ध्यान भटकाते रहे। सीएम गहलोत ने इसके साथ ही यह भी कहा कि आने वाले दिनों में आप देखेंगे कि अन्य राज्यों को भी सिलेंडर सस्ता देना पड़ेगा।

यहां सुनिए सीएम गहलोत ने क्या कुछ कहा अपने प्रदेश की जनता से…

https://www.youtube.com/watch?v=6MY369tpbmg

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here