Home Arts सीएम गहलोत का ट्वीट- राजस्थान लगे कुछ अपना सा, पर्यटकों की संख्या...

सीएम गहलोत का ट्वीट- राजस्थान लगे कुछ अपना सा, पर्यटकों की संख्या में आया रिकॉर्ड उछाल

143
0

The Angle

जयपुर।

चुनावी साल में भाजपा परिवर्तन संकल्प यात्रा के जरिए राजस्थान में गहलोत सरकार पर लगातार हमलावर है और कानून व्यवस्था से लेकर बेरोजगारी, भ्रष्टाचार, किसान कर्जमाफी जैसे मुद्दों को लेकर सरकार को घेरने में लगी हुई है। वहीं सीएम गहलोत पहले ही कह चुके हैं कि इस बार चुनाव जीतने के लिए उनकी पार्टी का फोकस उनकी सरकार की ओर से लिए गए जनकल्याण के फैसलों को जनता पर पहुंचाने पर ही रहेगा। इसी भावना के साथ मुख्यमंत्री गहलोत ने एक बार फिर प्रदेश के दौरे शुरू कर दिए हैं।

प्रदेश में पर्यटन क्षेत्र में उपलब्धि पर मुख्यमंत्री ने किया ट्वीट

इस बीच गंगापुरसिटी में राजीव गांधी ग्रामीण और शहरी ओलंपिक खेलों का अवलोकन करने जाने से पहले सीएम गहलोत ने एक ट्वीट किया। मुख्यमंत्री गहलोत ने राज्य सरकार की एक और उपलब्धि का जिक्र करते हुए ट्वीट किया कि राजस्थान लगे कुछ अपना सा। कोविड के बाद से ही प्रदेश सरकार के प्रयासों से राजस्थान पर्यटन नई ऊंचाइयों को छू रहा है।

सीएम गहलोत बोले- रंग की भूमि अतिथि देवो भवः को दे रही साकार रूप

सीएम गहलोत ने आगे लिखा कि जहां एक ओर उदयपुर को विश्व की दूसरी पसंदीदा जगह का खिताब मिला है। वहीं वर्ष 2022 में कुल 10.87 करोड़ पर्यटकों का आगमन राजस्थान में हुआ, जो कि 2021 के मुकाबले 394% ज्यादा रहा। राजस्थान ने वर्ष 2022 में देशी-विदेशी पर्यटकों के आगमन के मामले में 2021 से 4 पायदान ऊपर आते हुए 7वां स्थान प्राप्त किया। इसलिए हम गर्व से कह सकते हैं कि रंग की भूमि अतिथि देवो भव को साकार रूप दे रही है।

प्रदेश में बिगड़ी कानून व्यवस्था के मुद्दे पर राज्य सरकार को घेरती रही है भाजपा

गौरतलब है कि भाजपा प्रदेश में बिगड़ी हुई कानून व्यवस्था को लेकर खास तौर पर गहलोत सरकार पर हमलावर है। लेकिन राजस्थान में पर्यटकों की संख्या से जुड़े जो ये सामने आए हैं, उससे भाजपा का दावा खुद ही खारिज हो रहा है। राजस्थान घूमने आने वाले पर्यटकों की संख्या से ये बात स्पष्ट हो चुकी है कि गहलोत सरकार की ओर से पर्यटन क्षेत्र में दी जा रही सहूलियतों और किए गए विकास कार्यों की वजह से प्रदेश में पर्यटकों का रुझान बढ़ा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here